कोटा में बोले मोदी- आपके एक वोट ने रोकी 90 हजार करोड़ की चोरी

नई दिल्ली\जयपुर।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान के सियासी रण में उतर गए हैं. राजस्थान में वसुंधरा राजे की नैया पार लगाने के लिए मोदी आज ताबड़तोड़ रैलियां कीं. भीलवाड़ा और बनेश्वर धाम के बाद उन्होंने कोटा में जनसभा को संबोधित किया.

कोटा में उन्होंने कहा कि आपके एक वोट ने हिन्दुस्तान में हर साल 90 हजार करोड़ की जो चोरी होती थी उसे रोकने का काम किया है. इस चोरी को समझाते हुए उन्होंने कांग्रेस सरकार के कार्यकाल का उदाहरण दिया. पीएम ने सोनिया गांधी और यूपीए सरकार पर निशाना साधते हुए बताया, ‘जब मैडम रिमोट कंट्रोल से दिल्ली में सरकार चला रही थीं, तो जो बेटी पैदा नहीं हुई, सरकारी कागजों में वो बेटी विधवा हो जाती थी और सरकारी खजाने से उसे पेंशन जाती थी. जिस परिवार का अस्तित्व भी नहीं था, उसके नाम से राशन निकलता था और चोरी कर लिया जाता था.’ पीएम मोदी ने कि हमने इस चोरी को रोकने काम किया है.

इसके अलावा पीएम मोदी ने कांग्रेस के सीएम उम्मीदवार के चेहरे पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार का नाम पर्दे के पीछे रखा हुआ है, क्योंकि उसे राजस्थान की जनता पर भरोसा नहीं है. मोदी ने कहा कि जो पार्टी आपको सीएम उम्मीदवार का नाम नहीं बता सकती, उस पर आप क्या भरोसा करेंगे.

बनेश्वर में क्या बोले मोदी

इससे पहले बनेश्वर धाम में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं आपका प्यार ब्याज समेत लौटाऊंगा. उन्होंने कहा कि जब तक अटल जी देश के प्रधानमंत्री नहीं बने, तब तक कांग्रेस को कभी आदिवासियों की याद नहीं आई. आजादी के इतने सालों के बाद जब अटल जी प्रधानमंत्री बने, तब पहली बार अटल जी ने अलग आदिवासी मंत्रालय बनाया. आदिवासी मंत्री बनाया. आदिवासियों के लिए अलग बजट बनाया और तबसे आदिवासियों के विकास की गाथा शुरू हुई. चुनाव से पहले वादे करना और फिर उसे भुला देना यही कांग्रेस का काम है.

पीएम ने कहा कि हमारा मत है कि देश के अंदर बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, किसान को सिंचाई, बुजुर्गों को दवाई और जन-जन की सुनवाई का पूरा प्रबंध होना चाहिए. आजादी के 75 साल होने के मौके पर यानि 2022 तक मैंने ये संकल्प लिया है कि तब तक देश के हर नागरिक के पास अपना मकान होगा. ये घर पूरा होगा, यानि घर में नल, नल में जल, बिजली, गैस कनेक्शन सब कुछ होगा. राजस्थान में सात लाख घरों की चाबी लोगों को दी जा चुकी हैं.

राहुल पर हमला

पीएम ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि ये नामदार का ज्ञान बहुत कम है. वे कैलास मानसरोवर हो आते हैं, लेकिन उन्हें वहां के बारे में कुछ नहीं पता. मोदी ने कहा कि कांग्रेस के राज में देश में सिर्फ चार मोबाइल फैक्ट्री थीं, जबकि आज ये 125 हैं. मोदी ने कहा कि जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं पता वे किसान की बात करते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस आज इतनी सिकुड़ गई है कि वे सिर्फ नामदार की होकर रह गई है. कांग्रेस का उसूल है कि सबसे पहले नामदार, फिर परिवार, फिर परिवार के दरबारी और फिर वोट बैंक के ठेकेदार, फिर जातिवाद, उसके बाद उन्हें देश में कोई याद आता है. हमारे लिए दल से बड़ा देश है.

भीलवाड़ा में क्या बोले मोदी

इससे पहले पीएम ने राजस्थान के भीलवाड़ा में रैली की. रैली में उन्होंने कहा कि यहां एक बार फिर से बीजेपी की सरकार बनेगी. मुंबई हमले का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज 26 नवंबर है. जब दिल्ली में मैडम का राज चलता था, रिमोट कंट्रोल से चलता था, जब महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार थी, तब 26/11 को मुंबई में आतंकवादियों ने हमला करके हमारे देश के लोगों को, जवानों को गोलियों से भून दिया था. कांग्रेस उस समय देश भक्ति का पाठ पढ़ाती थी. बाद में वही कांग्रेस सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाती रही. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में आए दिन धमाके होते थे.

पीएम मोदी ने कांग्रेस नेताओं द्वारा खुद पर दिये गए बयानों पर भी निशाना साधा. मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नामदार मेरे मां-बाप के बाद मेरी जाति पर भी सवाल करते हैं. पीएम ने कहा कि आजादी के 60-65 साल बीत गया. कांग्रेस की चार पीढ़ी पर चायवाले के चार साल भारी हैं.उन्होंने कहा कि मोदी सोने का चम्मच लेकर पैदा नहीं हुआ. उसने गरीब मां को लकड़ी के चूल्हे पर खाना पकाते हुए देखा था. इसलिए उसने आकर के देश के 90% घरों में गैस का चूल्हा पहुंचा दिया.

पीएम मोदी ने अपनी सरकार का काम गिनाते हुए कहा कि हमारे आने से पहले गांव में शौचालय की सुविधा 40 प्रतिशत भी नहीं थी. 4 साल में मोदी ने इसे 40 प्रतिशत से 95 प्रतिशत कर दिया. इसको काम कहते हैं. 65 साल में 40% और 4 साल में 95%. पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने काम किया है तो हिसाब भी देना होगा.

माना जा रहा है कि प्रदेश में लोग वसुंधरा राजे से खुश नहीं हैं, लेकिन अब प्रदेश बीजेपी को पीएम मोदी का सहारा है. पिछले कुछ समय में यह नारे भी सुनाई दिए गए थे ‘वसुंधरा तेरी खैर नहीं मोदी तुझ से बैर नहीं’ यानी अब राजस्थान में बीजेपी पीएम मोदी के चेहरे पर अपना आगे का चुनाव प्रचार-प्रसार करना चाहती है.

यही वजह है कि पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान के रण में उतरने का फैसला किया है. ऐसे में सवाल ये है कि वसुंधरा राजे के खिलाफ लोगों के गुस्से को पीएम मोदी कम कर पाएंगे?

1
Back to top button