चाचा चौधरी के साथ प्रचार करेंगे मोदी

नेशनल डेस्क: मोदी सरकार जितना काम कर रही है, उतना ही लोगों के बीच उसका प्रचार भी कर रही है। जिसके लिए वह करोड़ों अरबों रुपए खर्च करने में भी पीछे नहीं हटती। लेकिन अब केंद्र सरकार ने अपनी योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए नया तरीका अपनाया है। वह चाचा चौधरी जैसे मशहूर कॉमिक्स पात्र का सहारा लेकर अपनी उपलब्धियां गिनवाएगी। हालांकि विपक्ष ने मोदी सरकार पर किताबों के जरिये अपनी विचारधारा थोपने का आरोप लगाया है।

बता दें कि हाल ही में महाराष्ट्र में बच्चों को जो अतिरिक्त सहायक किताबें पढ़ने के लिए दी गई हैं, उसमे चाचा चौधरी और मोदी नाम से भी एक किताब है। इस किताब के कवर पर नरेंद्र मोदी, चाचा चौधरी और साबू की तस्वीर है। स्कूल की लाइब्रेरी में बच्चों को यह किताब मुफ्त में पढ़ने को मिलेगी। अगर कोई बच्चा इसे खरीदना चाहे तो उसे इसके लिए 35 रुपए चुकाने होंगे। किताब में चाचा चौधरी और नरेंद्र मोदी के बीच संवाद हैं, जिनमें चाचा चौधरी मोदी सरकार की नीतियों पर अपने विचार रख रहे हैं।

वहीं एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार बच्चों को अच्छा पढ़ने की आदत विकसित करने के बजाय इस तरह की किताबें बाट रही हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी योजनाओं को प्रमोट करने के लिए स्कूली बच्चों को भी नहीं छोड़ रही। सुले के अनुसार इन किताबों में मोदी की तस्वीर की बजाय 19वीं सदी के महाराष्ट्र के सुधारक संत गढ़ेबाबा या महात्मा गांधी की तस्वीर का भी तो उपयोग किया जा सकता था। बच्चों को बांटी गई इस किताब में लिखा है कि प्रधानमंत्री मोदी खूब मेहनती हैं और दिन में 20 घंटे काम करते हैं।

एनसीपी सांसद ने कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए शिक्षा का उपयोग नहीं करना चाहिए, लेकिन सरकार शिक्षा में मार्केटिंग ले आई है। किसी भी राजनीतिक दल ने अतीत में शिक्षा के माध्यम से अपनी विचारधारा को बढ़ावा देने की कोशिश नहीं की थी, लेकिन यह सरकार ऐसा कर रही है जोकि काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। महाराष्ट्र सरकार ने सर्व शिक्षा अभियान के तहत 59.42 लाख रुपये की किताबें खरीदने का फैसला लिया है, जिसमें चाचा चौधरी और मोदी सीरीज भी शामिल है। ये किताबें छात्रों को सहायक सामाग्री के तौर पर दी जाएंगी तांकि वो अपने खाली टाइम में इसका पढ़ सकें।

new jindal advt tree advt
Back to top button