शपथ ग्रहण से पहले मोदी जाएंगे गांधी और अटल के समाधि स्थल पर

नई दिल्ली : अभूतपूर्व जीत के बाद गुरुवार की शाम सात बजे नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ साथ लगभग पांच दर्जन मंत्री शपथ लेंगे।

हालांकि सबकी नजरें इस पर होंगी कि गृह, रक्षा, वित्त और विदेश विभाग की अहम जिम्मेदारी किसे दी जाएगी और इस जीत में मोदी के बड़े सेनापति रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं। बताया जा रहा है कि नरेंद्र मोदी शपथ ग्रहण से पहले इंडिया गेट स्थित वार मेमोरियल, महात्मा गांधी के समाधि स्थल राज घाट और अटल समाधि स्थल जाएंगे।

यह शपथ ग्रहण भव्य होगा। एक तरफ जहां विदेशों से बिस्मटेक देशों के प्रमुख इसमें शामिल होंगे वहीं लगभग 8000 अतिथियों के होने की संभावना है। उनके समक्ष राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और क्रम और वरीयता से मंत्रियों को शपथ दिलाएंगे। मंगलवार को मोदी और शाह की लंबी बैठक में मंत्रिमंडल को लेकर चर्चा हुई थी। बुधवार को फिर से दोनों नेताओं की लंबी बैठक हुई।

इससे पहले जदयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी शाह से मुलाकात की। माना जाता है कि जदयू के प्रतिनिधियों की सूची उन्होंने सौंप दी है। जदयू के कोटे से दो मंत्री बनेंगे। जबकि लोजपा से एक। लोजपा ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि राम विलास पासवान की मंत्रिमंडल में होंगे।

अन्नाद्रमुक की ओर से भी आशाएं जताई गई है कि उनका एक प्रतिनिधि मंत्रिमंडल में होगा। शिवसेना से भी दो मंत्री बनाए जाने की संभावना है जबकि अकाली दल से एक। बताते हैं कि पुराने मंत्रिमंडल के अधिकतर सदस्य नए मंत्रिमंडल मे भी दिखेंगे। जबकि कुछ वरिष्ठ सदस्यों को संगठन मे भेजा जा सकता है।

सूत्रों का कहना है कि संभावित मंत्रियों को बुधवार देर रात से कैबिनेट सचिवालय की ओर से फोन पर जानकारी दी जाने लगी।

Back to top button