मोदी की अमेरिका यात्रा भारत के लिए फायदेमंद साबित हुई: चीन

चीन के सरकारी मीडिया ने वुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बैठक के बाद दोनों देशों के संबंधों ने नई ऊंचाइयां छुईं और इससे कई “सकारात्मक नतीजे” आए। मोदी की अमेरिकी यात्रा को लेकर सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के एक समाचार विश्लेषण लेख में कहा गया कि ट्रंप के जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद से यह किसी राष्ट्र प्रमुख के साथ ट्रंप का पहला वर्किंग डिनर था।

इसमें कहा गया कि ट्रंप, जिन्होंने कहा कि वह भारत के “सच्चे दोस्त” हैं, ने पूर्ववर्ती बराक आेबामा के शासनकाल में गहराए उन संबंधों को और मजबूत किया जिनके लिए उससे पहले जॉर्ज डब्ल्यू बुश एवं बिल क्लिंटन ने योगदान दिया था।

लेख के अनुसार, “इस दौरे को विशेषज्ञ इस बात को ध्यान में रखकर शानदार बता रहे हैं कि राष्ट्रपति ट्रंप के जलवायु परिवर्तन से संबंधित पेरिस समझौते से पीछे हटने के साथ भारत पर समझौते के कायार्न्वयन के बदले पैसे मांगने का आरोप लगाने के बाद दोनों देशों के बीच विवाद हुआ था।

इसमें कहा गया कि दोनों नेताओं ने आतंकवाद को लेकर मजबूत सहयोग सुनिश्चित करने का प्रण लिया। ट्रंप ने साथ ही पाकिस्तान को संदेश भी दिया कि वह “26/11 के मुंबई हमले, पठानकोट एवं पाकिस्तान स्थित समूहों द्वारा किए गए दूसरे सीमा पार आतंकी हमलों के गुनहगारों को तेजी से सजा दे।”

Back to top button