बोहरा मस्जिद जाना मोदी का चुनावी मकसद : जोगी

रायपुर।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इन्दौर में दाऊदी बोहरा जमात के धार्मिक आयोजन वाज (प्रवचन) में शिरकत करने को अगामी विधानसभा चुनावो एवं 2019 के लोकसभा चुनाव में देश के पीड़ित एवं प्रताड़ित अल्पसंख्यको को रिझाने का असफल प्रयास निरूपित किया है।

दूसरे दल के नेताओ के धार्मिक स्थलो पर जाकर श्रद्धा व्यक्त करने की भाजपाई आलोचना करते है, मानो धार्मिक आराधनालयो पर जाने का ठेका केवल भाजपाईयो ने ही ले रखा है। देश का सेकुलर संविधान धर्मनिर्पेक्ष सोच का पक्षधर है, जिसमे सभी धर्मावलम्बियो को अपने-अपने तरीके से इबादत करने की स्वतंत्रता है।

जोगी ने कहा है कि नरेन्द्र मोदी का दाऊदी बोहरा मस्जिद में जाना भाजपा के हित में स्वार्थ सिद्धी का प्रदर्शन मात्र है, उन्होने सबका साथ-सबका विकास की बात कही जो विगत साढे चार वर्षो में केवल जुमला बनकर रह गया है। स्मरण रहे सन् 2002 के गुजरात में भयानक प्रायोजित दंगे हुए थे जिसमे अल्पसंख्यको विशेषकर बोहरा समाज के छोटे-बडे़ कारोबारियों के उद्योगों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था। उस नुकसानी का समुचित मुआवजा आज तक अप्राप्त है। बोहरा समाज व्यवसायिक वर्ग से ताल्लुक रखता है तथा अपनी मेहनत मशक्कत के दम पर गुजरात सहित पूरे भारत में अपने आप को आर्थिक रूप से सशक्त बनाये हुए है।

जोगी ने कहा है कि कोई भी वर्ग किसी वर्ग विशेष को नकारकर देश की राजनीति में कदापि सफल नही हो सकता है। एक ओर भाजपा का मत है कि उन्हे अल्पसंख्यको के वोट की जरूरत नही है वही दूसरी तरफ नरेन्द्र मोदी का बोहरा समाज की मस्जिद जाकर सजदा करना भाजपा के दोहरे मापदण्ड को दर्शाता है।

नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्रित्वकाल में भयानक दंगो के लिए न केवल अल्पसंख्यको वरन्् देशवासियो से मस्जिद में दिये गये उद्बोधन में तत्कालीन मोदी सरकार की प्रत्यक्ष एवं परोक्ष संलिप्तता के लिए क्षमा याचना न सही, खेद ही व्यक्त कर देते तो अल्पसंख्यको के जख्मो पर मरहम का काम करता परन्तु नरेन्द्र मोदी ने यह मौका भी अपने हाथो से गवां दिया। मोदी ने अपने भाषण में यह भी नही बताया कि इन साढे चार वर्षो में कितने अल्पसंख्यको को सरकारी नौकरी में रखा गया है ? मोदी जी ने अपने उद्बोधन में अल्पसंख्यको के लिए बनायी गयी या भविष्य में बनायी जाने वाली किसी सार्थक योजना का उल्लेख तक नही किया।

Tags
Back to top button