मोहन भागवत का बयान ‘मुंह में राम, बगल में छुरी’ जैसा है : मायावती

मोहन भागवत द्वारा दिए गए बयान पर राजनीतिक बयानबाजी जारी

नई दिल्ली:बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए गए बयान पर पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मोहन भागवत का बयान ‘मुंह में राम, बगल में छुरी’ जैसा है.

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकारें जहां भी चल रही हैं, वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एजेंडे पर चल रही हैं. मायावती ने कहा कि मोहन भागवत द्वारा दिए गया बयान किसी के भी गले से नीचे नहीं उतरने वाली है. RSS, बीजेपी एंड कंपनी की कथनी-करनी में काफी अंतर है.

मायावती बोलीं कि मोहन भागवत देश की राजनीति को विभाजनकारी बताकर जो कोस रहे हैं, वो सही नहीं है. सच्चाई तो ये है कि बीजेपी की सरकारों की वजह से जातिवाद, राजनीति द्वेष और सांप्रदायिक हिंसा आ लोगों को परेशान किया हुआ है.

‘मुंह में राम, बगल में छुरी’

मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आज अफरा-तफरी का माहौल है, बसपा हमेशा ही RSS की नीतियों का विरोध करती रही है. RSS के बिना बीजेपी का अस्तित्व बिल्कुल भी नहीं है, वह अपनी बातों को भाजपा की सरकारों से ही क्यों लागू नहीं करवा पा रही है.

बसपा प्रमुख ने कहा कि RSS की कथनी-करनी में ज़मीन आसमान का अंतर है. ये जो कहते हैं वो उसका उल्टा ही करते हैं. मोहन भागवत का दिया गया ताज़ा बयान लोगों को अविश्वसनीय लगता है, ये बयान मुंह में राम, बगल में छुरी वाला लगता है.

मायावती ने कहा कि जो लोग जबरन धर्म बदलवाते हैं, ऐसे मामलों में सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए. लेकिन जानबूझकर इसे हिन्दू-मुस्लिम मुद्दा नहीं बनाना चाहिए और मुस्लिम समाज को शक की निगाह से नहीं देखा जाना चाहिए.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button