राष्ट्रीय

EVM की निगरानी को लेकर SC सख्त, चुनाव आयोग से मांगा जवाब

नई दिल्ली :

उच्चतम न्यायालय ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का रखरखाव निजी कंपनियों के इंजीनियरों द्वारा कराये जाने को चुनौती देने वाली याचिका पर मंगलवार को निर्वाचन आयोग को अपना रुख स्पष्ट करने को कहा। न्यायालय ने हालांकि इस मामले में औपचारिक नोटिस जारी नहीं किया है। न्यायमूर्ति अर्जन कुमार सिकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ ने पत्रकार आशीष गोयल की जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान निर्वाचन आयोग से रुख स्पष्ट करने को कहा।

याचिकाकर्ता द्वारा दाखिल की गई पीआईएल में आरोप लगाया गया कि ईवीएम के रखरखाव में चुनाव आयोग निजी कंपनियों के इंजीनियरों का इस्तेमाल करता है, जिस पर रोक लगाई जानी चाहिए और सिर्फ सरकारी अधिकारियों को ही इसके रखरखाव की इजाजत दी जानी चाहिए। वहीं अब तक जितने ईवीएम का निर्माण हुआ है, उनकी संख्या चुनाव आयोग के रिकॉर्ड में बताई गई संख्या से कई ज्यादा है।

याचिकाकर्ता का कहना है कि चुनाव आयोग से ये पूछा जाना चाहिए कि इतनी बड़ी संख्या में ईवीएम कहां चले गए। याचिककर्ता ने इस मामले में न्यायिक जांच के आदेश दिये जाने की मांग की है। मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी। फिलहाल शीर्ष अदालत ने इस केस में चुनाव आयोग का जवाब मांगा है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
EVM की निगरानी को लेकर SC सख्त, चुनाव आयोग से मांगा जवाब
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt