मकडिय़ां होती है छोटी पर एक साल में खाती है इंसानों के बराबर मांस

मकडिय़ां सालभर में करीब से 40 से 80 करोड़ टन कीड़े मकोड़े खा जाती हैं।

नई दिल्ली। आप सोचते होंगे कि मकडिय़ां तो काफी छोटा जीव है और कीड़े-मकोड़ों को अपना भोजन बनाती हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि धरती पर लगभग 2.5 करोड़ टन वजन के बराबर मकडिय़ां हैं,और ये एक साल में 40 से 80 करोड़ टन कीड़े मकोड़े खा जाती हैं।

मकडिय़ां सालभर में करीब से 40 से 80 करोड़ टन कीड़े मकोड़े खा जाती हैं। दरअसल यह मात्रा सालभर में इंसानों के मास मछलियों के सेवन के लाभ बराबर है।

एक साल में मकडिय़ां जितने कीड़े मकोड़े खाती हैं, इतने ही समय में इंसान भी लगभग उतना ही मांस-मछलियां खाता है।



इस अध्ययन से यह भी पता चलता है कि बीमारी फैलाने वाले कीड़े-मकोड़ों को इंसानों से दूर रखने में मकडिय़ां अहम भूमिका निभाती हैं।

खासकर जंगलों और घास वाले इलाकों में। इंसानी जीवन में मकडिय़ों का इतना अधिक योगदान है, यह जानकर मकडिय़ों को लेकर आम लोगों में जागरुकता बढ़ेगी।

मकडिय़ां काफी अच्छी शिकारी होती हैं। ये आर्कटिक से लेकर गुफाओं, रेगिस्तान, समंदर के तटों, बालू के टीलों व मैदानों तक हर जगह पाई जाती हैं।

Back to top button