GOOD NEW : केरल के तट पर तीन दिन पहले आ गया मॉनसून, खत्म हुआ इंतजार

नई दिल्ली। तपती गर्मी में बारिश की बाट जोह रहे लोगों और खासतौर से किसानों के लिए अच्छी खबर है। दक्षिण-पश्चिम मॉनसून समय से पहले ही केरल पहुंच गया है। इसी के साथ भारत में चार महीने चलने वाले बारिश के मौसम की शुरुआत भी हो गई है। अगले कुछ हफ्तों में यह उत्तर भारत की तरफ बढ़ेगा।

भारतीय मौसम विभाग ने पुष्टि कर दी है कि केरल में मंगलवार को दक्षिण-पश्चिम मॉनसून दस्तक दे चुका है। मौसम विभाग का पूवार्नुमान था कि इस साल मॉनसून 1 जून को केरल के तट पर पहुंचेगा लेकिन तीन दिन पहले ही मॉनसून आ गया। मौसम की परिस्थितियों के मुताबिक, अगले 48 घंटों में मॉनसून आगे बढ़ेगा और देश के बाकी हिस्सों को भी कवर कर लेगा। कर्नाटक के तटीय इलाकों, बंगाल की खाड़ी के कुछ इलाकों में भी अगले 48 घंटे के अंदर ही मॉनसून के पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

अगले डेढ़ महीने के अंदर पूरे देश में बारिश होने की संभावना भी जताई जा रही है। मौसम विभाग की मानें तो इस साल बारिश सामान्य ही रहेगी। मौसम विभाग ने एक बयान में बताया कि पिछले 3-4 दिनों में 14 मॉनिटरिंग स्टेशनों पर 60 प्रतिशत से ज्यादा बारिश रेकॉर्ड की गई है।

दो एजेंसियों के बीच हुआ था मतभेद : इससे पहले प्राइवेट एजेंसी स्काइमेट और भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के बीच मॉनसून के आने को लेकर मतभेद पैदा हो गया था। कटऊ का कहना है कि 10 मई के बाद लगातार दो दिन तक मॉनसून मॉनिटरिंग के 14 सेंटर्स पर 2.5 मिलीमीटर या फिर उससे ज्यादा बारिश रेकॉर्ड किए जाने के कारण मॉनसून के आने का समय दूसरे दिन को (29 मई) माना गया है।

new jindal advt tree advt
Back to top button