100 से ज्यादा प्रवासी और शरणार्थियों को मानव तस्करों ने उतारा मौत के घाट

तकरीबन 40 अन्य जख्मी हुए हैं. इनमें अधिकतर महिलाएं हैं.

नई दिल्ली: डॉक्टर्स विदआउट बॉडर्स ने आज बताया कि मानव तस्करों द्वारा बंदी बनाकर रखे गए 100 से ज्यादा प्रवासी और शरणार्थियों को उत्तर पश्चिम लीबिया की गुप्त जेल से भागने के दौरान गोली मार दी गई. इस घटना में दर्जनों लोग हताहत हुए हैं. अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा संगठन ने कहा कि बुधवार रात हुई घटना में बचे लोगों ने बताया कि कम से कम 15 लोगों की मौत हुई है और तकरीबन 40 अन्य जख्मी हुए हैं. इनमें अधिकतर महिलाएं हैं.

संगठन ने बताया कि बानी वलीद शहर में बचकर भागे लोगों को फिर से बंदी बनाने के लिए अपहरणकर्ता और बंदूकधारी उनका पीछा कर रहे थे. ऐसे में सुरक्षा बलों, अस्पताल और नगर निकाय के कर्मियों ने उन्हें बचाने की कोशिश की.

उन्होंने बताया कि बचे हुए लोगों में अधिकतर इरिट्रिया , इथोपिया और सोमालिया के किशोर और किशोरी हैं जो यूरोप में शरण हासिल करने की कोशिश में थे. संगठन ने बताया कि कुछ लोगों ने बताया कि उन्हें तीन साल से बंदी बनाकर रखा गया था. कई लोगों के शरीर पर प्रताड़ित करने के निशान भी साफ नजर आ रहे थे.

new jindal advt tree advt
Back to top button