केमिकल किट खत्म होने से 15 से अधिक जांच बिलासपुर के सिम्स में हुई बंद

सेंट्रल लैब और ब्लड बैंक में केमिकल किट खत्म हो गई है।

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

संवाददाता : राधिका पाखी

बिलासपुर। सेंट्रल लैब और ब्लड बैंक में केमिकल किट खत्म हो गई है। इसके चलते थाइराईड, एलएफटी, आरएफटी, विटामिन बी-12, डी-3 हिमोग्लोमिन, सीबीसी समेत 15 से अधिक जांच बंद हो गई है। मरीज निजी सेंटरों में जाकर अपना ब्लड टेस्ट करा रहें है। इसके बावजूद सिम्स प्रबंधन कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

मेडिसिन स्टोर से इन विभाग को जांच के लिए केमिकल किट उपलब्ध कराया जाता है। लेकिन, सिम्स में अभी कर्मचारियों की हड़ताल में होने के कारण सामग्री उपलब्ध नही हो पा रही है। इसके कारण समस्त जांच प्रभवित हो रही है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग ने तो पहले ही डीन से कह दिया है कि हम जांच बंद कर रहे हैं। वहीं अब पैथोलैब में भी केमिकल किट खत्म होने पर कई जांचे बंद कर दी गई।

विभाग के डॉक्टर एक-एक किट के लिए विवाद कर रहे हैं, ताकि किसी तरह वो अपने मरीजों की जांच कर सकें। लेकिन उन्हें केमिकल किट नहीं मिल पा रहा है। अस्पताल में भर्ती मरीजों तक का जांच नही हो पा रही है। ऐसे में मरीजों को डॉक्टर बाहर से ही जांच कराने की सलाह दे रहें ताकि समय पर रिपोर्ट आ जाए और जरूरी उपचार शुरू कराया जाए यदि सिम्स में ये सभी जांच जल्द ही शुरू नहीं हो पाती है, तो इलाज के लिए आने वाले मरीजों की जान को भी खतरा है।

आर्थोपेडिक वार्ड के सभी बिस्तर खाली

सिम्स के आर्थोपेडिक वार्ड का सभी बिस्तर खाली पड़ा हुआ है। मेल और फीमेल आर्थोपेडिंक वार्ड में एक भी मरीज भर्ती नही किया जा रहा है, इमरजेंसी वार्ड में सभी बेड मरीज भर्ती नही किये जाने के कारण खाली पड़े हैं, बच्चा वार्ड में वेंटीलेटर खराब होने के कारण गंभीर बच्चों का इलाज नही हो पा रहा है, ऐसे में कुछ देर के लिए भर्ती कर उन्हें लामा के नाम पर या रिफर का कागज बनाकर दूसरे अस्पताल भेज दिया जा रहा है। संभाग के सबसे बड़े अस्पताल में ऐसे अब मरीजों को इलाज की सुविधा नही मिल पा रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button