नये साल में जश्न के दौरान पकड़े गये 2500 से ज्यादा शराबी

गुजरात पुलिस ने चलाया तलाशी अभियान

गांधीनगर। गुजरात पुलिस ने केवल शहरों में ही नहीं, गुजरात में आने वाली चेकपोस्ट पर भी तलाशी अभियान चलाया और नये साल के जश्न के दौरान अलग-अलग शहर से 2500 से ज्यादा शराबी पकड़े गये हैं।

नए साल के जश्न के दौरान वलसाड जिले में महिलाओं सहित 650 लोगों को नशे की हालत में पुलिस ने पकड़ा था। शराब को लेकर पूरे थाने में हड़कंप मच गया, क्योंकि पुलिस थाने में इन लोगों को रखने के लिये जगह नहीं थी।

पुलिस ने वलसाड, पारडी, वापी, उमरगाम इलाके में जांच की थी। वापी टाउन से 152, पारडी में 205 और वलसाड सिटी में 60 लोगों को पुलिस ने शराब पीते हुए पकड़ा था।

सूरत के पास ही केंद्र शासित राज्य दमन और दीव है, वहां से शराब पीकर सूरत और साउथ गुजरात में घुसने वाले लोंगो को भी पुलिस ने पकडा था। पुलिस ने शराब का सेवन करने के बाद नशे की हालत में वलसाड में प्रवेश करने वाले लोगों को भी गिरफ्तार किया।

उमरगाम और पारडी में पटियाला चेकपोस्ट के पास नशे की हालत में लोग

उमरगाम और पारडी में पटियाला चेकपोस्ट के पास नशे की हालत में भी लोग पकडे गये थे। पुलिस ने चिखली के वीकेंड होम में छापे मारे और रेड में लगभग 30 महिलाएं और पुरुष तेजी से भागे थे लेकिन सभी लोगों को पकड के चिखली पुलिस स्टेशन ले जाया गया और पुलिस ने उनका मेडिकल चेकअप कराया था।

इसके अलावा 31 दिसंबर की मध्यरात्रि को पुलिस ने अहमदाबाद शहर से 200 से अधिक लोगों को नशे की हालत में पकड़ लिया था। अधिकांश सरदार ने नगर क्षेत्र के 24 लोगों को पकडा था।

अहमदाबाद में सेक्टर 1 में 100 से अधिक लोग और सेक्टर दो से 170 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए। शहर में एसजी हाइवे पर वाहन चेकिंग के दौरान लोगों को नशे की हालत में पकड़ा गया है। सूरत पुलिस ने 190 से अधिक शराबी को भी हिरासत में लिया था जिसमे 170 लोग नशे में गाड़ी चलाते हुए पकड़े गए थे।

सौराष्ट्र के विभिन्न इलाको से भी नशे की हालत में लोग पकड़े गये थे। नोर्थ गुजरात के थराद डिवीजन के 6 पुलिस स्टेशन क्षेत्र में खइ लोंगो के खिलाफ कार्रवाई की थी और धानेरा, वाव, पंथवाड़ा मवासी सहित 6 डिवीजनों से 250 युवाओं को गिरफ्तार किया गया।

1
Back to top button