भारत में घुसपैठ करने की फिराक में 300 से ज्यादा आतंकवादी: पुलिस महानिदेशक

पीओके में आतंकी ठिकाने में 300 से ज्यादा आतंकवादी मौजूद

नई दिल्ली: श्रीनगर में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि हम अब तक 70 से ज्यादा आतंकियों का सफाया करने में कामयाब हुए हैं. इसमें विभिन्न आतंकी संगठनों के 21 कमांडर भी हैं. ये सभी कश्मीर और जम्मू क्षेत्र में सक्रिय थे.

वहीँ पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि 300 से ज्यादा आतंकवादी भारत में घुसपैठ करने की फिराक में एलओसी के पार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में आतंकी ठिकाने में बैठे हुए हैं.

हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन का डिवीजनल कमांडर ढेर

दिलबाग सिंह ने कहा कि तहरीक-ए-हुर्रियत के अध्यक्ष मुहम्मद अशरफ सेहराई का बेटा जुनैद सेहराई श्रीनगर के नवा कदल की मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकवादियों में से एक था. उन्होंने कहा कि वो हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन का डिवीजनल कमांडर था.

पुलिस ने दूसरे मारे गए आतंकवादी की पहचान दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के तारिक अहमद शेख के रूप में की है. सेहराई श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके से था वह मूल रूप से कुवपाड़ा जिले के निवासी था.

श्रीनगर में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए डीजीपी सिंह ने कहा कि नावा कदल इलाके में कल रात शुरू हुए ऑपरेशन में और आज दोपहर को जुनैद सेहराई जो हिजबुल मुजाहिदीन का डिवीजनल कमांडर था को मार गिराया गया. उन्होंने कहा, “सेहराई को मध्य कश्मीर क्षेत्रों की कमान संभालने का काम सौंपा गया था.”

डीजीपी ने कहा कि श्रीनगर में मारे गए दो आतंकवादी युवाओं को आतंकवाद में भर्ती करने और ग्रेने हमले का काम सौंपा गया था. सेहराई ने युवाओं के साथ बैठकें करता था और उन्हें उग्रवाद की ओर आकर्षित किया करता था. उन्होंने कहा कि उसका सहयोगी तारिक पुलवामा और शोपियां जिलों में सक्रिय था.

डीजीपी ने कहा कि नवा कदल ऑपरेशन एक क्लीन आॅपरेशन था. केवल एक आवासीय घर में आग लगी थी जिसे तुरंत नियंत्रित किया गया था. उन्होंने कहा, “सुबह सबसे पहले हमने फंसे लोगों को बाहर निकाला.

उस प्रक्रिया में, दो जवान एक सीआरपीएफ से और दूसरा जम्मू-केपी के एसओजी था जो घायल हुए थे. अंतिम हमले में, शेष आतंकवादी ने एक ग्रेनेड फेंका जिसमें सीआरपीएफ के दो जवान और घायल हो गए लेकिन सभी घायल स्थिर हैं.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button