छत्तीसगढ़

सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत वर्ष 2017-18 में 6 लाख से अधिक हितग्राही लाभान्वित

रायपुर : समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत 16 लाख से अधिक हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है. वर्ष 2018-19 के बजट में सामाजिक सहायता कार्यक्रम के लिए 720 करोड़ 67 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है.

सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत छह प्रकार की पेंशन योजनायें संचालित हैं .सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना 1981 में शुरू की गयी थी और इस योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले 06 से 17 वर्ष के अध्ययनरत निःशक्त बच्चे,18 वर्ष एवं अधिक आयु के निःशक्त व्यक्ति और बौने व्यक्तियों को शामिल किया गया है.वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत 05 लाख 17 हजार 714 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 219.87 करोड़ रुपए व्यय किये गए.

वर्ष 2001 में प्रारम्भ सुखद सहारा योजना में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन 18 से 39 आयु वर्ग विधवा महिलाएं और 18 वर्ष की परित्यक्ता महिलाएं शामिल हैं.वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत 02 लाख 40 हजार 125 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 64.13 करोड़ रुपए व्यय किये गए.इसी प्रकार वर्ष 2009 में शुरू इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले 40 से 79 वर्ष की विधवा महिलाओं को लाभान्वित किया जाता है. वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत एक लाख 62 हजार 748 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 36.57 करोड़ रुपए व्यय किये गए.इन तीनों योजनाओं के तहत हितग्राहियों को 350 रुपए मासिक पेंशन दी जाती है.

इसी प्रकार वर्ष 1995 में प्रारंभ इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले 60 से 79 वर्ष के वृद्धजन शामिल हैं इन सबको 350 रुपए मासिक तथा 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के वृद्धजनों को 650 रुपए मासिक पेंशन दी जाती है. वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत 06 लाख 53 हजार 740 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 116.43 करोड़ रुपए व्यय किये गए.

वर्ष 2009 में शुरू इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय निःशक्तजन पेंशन योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले गंभीर रूप से निःशक्त व्यक्ति और बहु विकलांग व्यक्तियों को 500 रुपए मासिक पेंशन दी जाती है. वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत 33 हजार 524 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 09.12 करोड़ रुपए व्यय किये गए. वर्ष 2009 में प्रारंभ राष्ट्रीय परिवार सहायता कार्यक्रम के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार में कमाऊ मुखिया की आकस्मिक मृत्यु पर 20 हजार रुपए की एकमुश्त आर्थिक सहायता दी जाती है. वर्ष 2017-18 में दिसंबर माह तक इस योजना के तहत 5 हजार 463 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और 10.82 करोड़ रुपए व्यय किये गए.

Summary
Review Date
Reviewed Item
सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत वर्ष 2017-18 में 6 लाख से अधिक हितग्राही लाभान्वित
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *