कुंडली से ज्‍यादा जरूरी है शादी से पहले ये 5 मेडिकल चेकअप!

भारतीय समाज में शादी को लेकर काफी उत्‍साह देखने को मिलता है। शादी से कुछ महीने पहले ही तैयारी शुरू हो जाती है, मसलन कपड़े, गहने की खरीदारी, होटल की बुकिंग और खाने पीने का सारा अरेंजमेंट जैसी तमाम चीजें जो जरूरी होता है। इसके अलावा शादी तय होने से पहले जो सबसे जरूरी माना जाता है वह है कुंडली का मिलान। अगर कुंडली में 36 गुण मिल गए तो समझो सोने पे सुहागा, वरना 28, 30 गुण तो मिल ही जाते हैं। लेकिन क्‍या आपने कभी लड़के और लड़कियों का मेडिकल चेकअप कराना जरूरी समझा? शायद आपका जवाब ‘न’ हो। जबकि शादियों में लेन-देन से ज्‍यादा जरूरी मेडिकल चेकअप होता है। हालांकि ऐसा करना एक-दूसरे की कमियां निकालना नहीं है बल्कि इससे आप अपना भविष्‍य सुरक्षित कर सकते हैं।
शादी से पहले कराने चाहिए ये जरूरी मेडिकल चेकअप
1 अगर लड़का-लड़की दोनों का Rh फैक्टर एक समान है तो बहुत अच्‍छा है। प्रेगनेंसी के समय बच्चे और मां का अलग-अलग Rh फैक्टर होने से मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
2 अगर आप एक महिला हैं और आपकी उम्र ज्यादा है तो अपनी ओवरी की जांच जरूर कराएं। इससे आपके मां बनने की क्षमता का पता चल जाएगा।
3 आनुवांशिक बीमारियों (जेनेटिक डिजीज) को जानने के लिए जेनेटिक टेस्‍ट करवाना जरूरी है क्‍योंकि इससे ये पता चल जाता है कि आपके होने वाले पार्टनर को कोई अनुवांशि‍क बीमारी तो नहीं है। जानकारी होने पर आप बचाव कर सकते हैं।
4 ज़ाहिर है कि एचआईवी का नाम सुनकर लोग अनसुना करने लगते हैं। लेकिन ये एक जानलेवा बीमारी हैं। बात जब पूरी ज़िंदगी साथ बिताने की हो, तो बेहतर है कि दोनों साथी सहमति से एक बेहतर जीवन के लिए अपनी जांच करवा लें।

इनफर्टिलिटी स्‍क्रीनिंग

5 एक जो सबसे जरूरी जांच है वह है इनफर्टिलिटी स्‍क्रीनिंग, जिसे लड़का और लड़की दोनों को कराना चाहिए। इन जाचों से बिल्‍कुल भी नहीं कतराना चाहिए, क्‍योंकि शादी के बाद कपल्‍स को पूरी लाइफ साथ ही रहना है। ये चेकअप हर किसी को कराना चाहिए, चाहे आप अरेंज मैरेज कर रहे हों या लव मैरेज।

Back to top button