श्रम विभाग , टचस्टोन फाउंडेशन के मध्य हुआ एमओयू

इस योजना के तहत असंगठित और भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत श्रमिकों को पांच रूपए में और संगठित के श्रमिकों को दस रुपए में गरम भोजन दिया जाएगा। इसमें चावल, दाल, सब्जी और आचार शामिल होंगे।

रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को रात यहां उनके निवास कार्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय श्रम अन्न सहायता योजना के क्रियान्वयन के लिए समझौते पर हस्ताक्षर हुआ। यह हस्ताक्षर छत्तीसगढ़ शासन के श्रम विभाग और समाजसेवी संस्था टचस्टोन फाउंडेशन के मध्य हुई।

छत्तीसगढ़ शासन की तरफ से श्रम विभाग की विशेष सचिव आर. शंगीता और टचस्टोन फाउंडेशन के अध्यक्ष ब्योम पाद दास ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू के अनुसार प्रथम चरण में संस्था की ओर से प्रदेश के चार जिला-रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और राजनांदगांव के सात केन्द्रों में अन्न सहायता वितरण केन्द्रों की शुरूआत की जाएगी, जिसमें श्रमिकों को गरम और ताजा भोजन दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह राजनांदगांव में एक जनवरी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय श्रम अन्न सहायता योजना के तहत अन्न वितरण केन्द्र की शुरूआत करेंगे। वे इस अवसर पर केन्द्र में ही श्रमिकों के साथ भोजन भी करेंगे।

योजना के दुसरे चरण में रायगढ़, कोरिया, अम्बिकापुर, जगदलपुर और जांजगीर-चांपा और कबीरधाम में अन्न वितरण केन्द्रों का विस्तार किया जाएगा। इस योजना के तहत असंगठित और भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत श्रमिकों को पांच रूपए में और संगठित के श्रमिकों को दस रुपए में गरम भोजन दिया जाएगा। इसमें चावल, दाल, सब्जी और आचार शामिल होंगे।

इस अवसर पर श्रम मंत्री भईयालाल राजवाड़े, छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण मंडल के अध्यक्ष योगेश शर्मा, छत्तीसगढ़ भवन सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष मोहन एंटी, उपाध्यक्ष सुभाष तिवारी, आदि उपस्थित थे।

advt
Back to top button