जंगल में भाई-बहन के साथ गाय चराने गई थी बच्ची, हुआ ऐसा कि हो गई मौत

सीहोर (भोपाल). जिले के बुदनी तहसील के रातापानी जंगल से सटे खाडाबड़ में शेर के हमले से एक बच्ची की मौत हो गई। उसे बचाने के लिए साथ में मौजूद भाई-बहन ने शेर से सामना करने की हिम्मत तो दिखाई, लेकिन तब तक बच्ची की सांसें थम चुकी थीं। झाड़ियों में छुपा बैठा था शेर….
– पुलिस के मुताबिक, बुदनी थाना क्षेत्र में आने वाले गांव खांडाबड़ निवासी अमर सिंह भिलाला की बेटी नीतू गाय चराने रोज अपने भाई-बहन के साथ जंगल में जाती थी। रविवार को सुबह आठ बजे ये रोज की तरह जंगल गए।
– तभी पंचायत भवन के सामने शेर आ गया। ये कुछ समझ पाते, इससे पहले ही शेर ने नीतू पर हमला कर उसे जबड़े में दबा लिया और जंगल की ओर ले भागा। इस पर मुस्कान और मुकेश ने हिम्मत दिखाई और पत्थर फेंकने शुरू किए।
– शेर नीतू को छोड़कर भाग गया। किसी तरह दोनों नीतू के पास पहुंचे, लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुकी थी। ये दोनों नीतू का शव लेकर गांव पहुंचे।
– इसके बाद बड़ी संख्या में गांव के लोग ने मौके पर पहुंचे। वहां पर शेर के पैरों के निशान मिले। इसके तुरंत बाद पुलिस और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को सूचना दी गई।
गांव में दहशत
– इस घटना के बाद से खांडाबड़ और आसपास के गांव के लोग डरे हुए हैं।
– इससे पहले भी सामान्य वन क्षेत्र में शेर की हलचल की खबरें आती रही हैं। लेकिन यह पहली बार है, जब बुधनी में हाल में ही शेर ने किसी इंसान का शिकार किया है।
– फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के डीएफओ के मुताबिक, पीड़ित परिवार को तत्काल 10 हजार रुपए की सहायता राशि दे दी है। वहीं, 4 लाख की सहायता परिवार को और दी जाएगी।
– शेर को निगरानी में रखने के लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की टीम लगा दी गई है।
advt
Back to top button