मध्यप्रदेश

मप्र उपचुनाव: मतगणना मंगलवार सुबह आठ बजे शुरु होगी

एक अधिकारी ने बताया कि मतों की गणना 19 जिलों में सुबह आठ बजे से शुरु होगी।

भोपाल: मध्यप्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती मंगलवार सुबह आठ बजे शुरु होगी। उपचुनाव के परिणाम प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के भविष्य का फैसला करेंगे।

एक अधिकारी ने बताया कि मतों की गणना 19 जिलों में सुबह आठ बजे से शुरु होगी।उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा कोविड-19 महामारी के तहत जारी दिशा निर्देशों के अनुसार मतगणना की जायेगी। बड़ी तादाद में मतगणना एजेंट एक साथ मतगणना केन्द्रों पर जमा नहीं होगें।

अधिकारी ने बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के निर्देश अनुसार उम्मीदवार, उनके मतणना एजेंट मतगणना केन्द्र के एक हॉल में उपस्थित रह सकते हैं। मतगणना के ताजा परिणामों को केन्द्र में बड़ी स्क्रीन पर दिखाया जायेगा।

तीन नवंबर को हुए मतदान में महामारी के बावजूद 70.27 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकारों का इस्तेमाल किया था। जबकि वर्ष 2018 के चुनाव में इन 28 सीटों पर औसतन 72.93 प्रतिशत मतदान हुआ था। उपचुनाव की अधिकांश सीटें ग्वालियर-चम्बल क्षेत्र में हैं।

उन्होंने बताया कि इस उपचुनाव में प्रदेश के 12 मंत्रियों सहित 355 उम्मीदवार मैदान में थे। मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली दफा इतनी सीटों पर उपचुनाव हुए हैं। गौरतलब है कि इस वर्ष मार्च माह में कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देने के बाद भाजपा में शामिल होने से कमलनाथ सरकार अल्पमत में आकर गिर गई थी। इनमें अधिकांश विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक थे। सिंधिया स्वयं भी मार्च माह में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गये थे।

मध्यप्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा में वर्तमान में भाजपा के 107, कांग्रेस के 87, बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं। उपचुनाव की घोषणा होने के बाद दमोह से कांग्रेस के विधायक राहुल लोधी भी त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल हो गये। सदन की प्रभावी संख्या 229 के आधार पर बहुमत का जादुई आंकड़ा 115 का होता है। भाजपा को इस आंकड़े को पाने के लिये आठ सीट की जरूरत है जबकि कांग्रेस को सभी 28 सीटें जीतना जरूरी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button