MP पुलिस प्रयोग : चापलूस अधिकारियों पर लगा देगा लगाम

इंदौर : जिला में टीआई, एसआई, एएसआई को थाने में पोस्टिंग से पहले एक और टेस्ट से गुजरना होगा। अगर आपको इस टेस्ट में बेहतर नंबर आए, तो उसी के आधार पर आपको थाने में पोस्टिंग मिल सकेगी। दरअसल ये प्रयोग डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने इंदौर से शुरू किया है। इसमें नेचर ऑफ क्राइम के आधार पर थानों को चिन्हित किया गया है और उसी के आधार पर अब टीआई से लेकर एसआई तक टेस्ट लिया जा रहा है।

नई प्रक्रिया में यह देखा जा रहा है कि अधिकारी किस तरह की पुलिसिंग कर रहे हैं, वह किस तरह से अपराधों पर लगाम लगा रहे हैं और उनका ट्रैक रिकॉर्ड क्या है। इस टेस्ट को बाकायदा प्रोफेसर द्वारा लिया जाएगा और इसके आधार पर ही थाने में पोस्टिंग की जाएगी। शुरुआती तौर पर यह प्रयोग इंदौर जिला में किया जा रहा है अगर ये सफल रहा, तो पूरे प्रदेश में यह लागू किया जाएगा।

गौरतलब है कि इंदौर पुलिस अलग-अलग प्रयोग के लिए जानी जाती है। एक वक्त था जब डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने गुंडों के मकानों को तुड़वाकर पूरे देश में सुर्खियां बटोरी थीं, वहीं अब उनका यह नया प्रयोग। अगर ये प्रयोग भी सफल साबित होता है तो पहली बार पोस्टिंग किसी सिफारिश पर नहीं बल्कि काबिलियत के आधार पर की जाएगी।
<>

new jindal advt tree advt
Back to top button