क्राइम

एमएस शेख की पकड़ मंत्री के बंगले तक,क्या इसी लिए कई गंभीर आरोप लगने के बाद भी नही कम हो रही जनाब की अकड़,आखिर किसके शह पर इन्हें बख्शा जा रहा?

मंत्री के करीबी होंने के कारण ये जनाब लोगों पर अपना घोैंस दिखाते फिरते है इतना ही नही एमएस शेख वके ऊपर कई गंभीर आरोप लगने के बाद भी इन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

रायपुर: हाउसिंग बोर्ड के अधिकारी एम एस शेख मनमानी और कर्मचारियों दुर्व्यवहार करने से बाज़ नही आ रहे है। वही सूत्रों की माने तो जनाब की पकड़ मंत्री के बंगले तक है जिससे इनकी अकड़ चार्म पर है। मंत्री के करीबी होंने के कारण ये जनाब लोगों पर अपना घोैंस दिखाते फिरते है इतना ही नही एमएस शेख वके ऊपर कई गंभीर आरोप लगने के बाद भी इन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। जो समझ से परे है।

मिली जाकारी के अनुसार आरोपी अधिकारी एम.एस.शेख पूर्व में भी एक एस.सी.एस.टी. महिला को प्रताड़ित कर चुका है जिसमें इसके विरूद्ध एफ.आई.आर. भी हुई थी। सूत्रों के अुनसार एक एस.टी. अधिकारी के साथ मारपीट कर इसको जेल की हवा भी खानी पड़ी थी। उनके विभाग के लगभग सभी लोग यह मानते है कि बेहद खराब भाषा का प्रयोग करते है। यही नहीं उसके द्वारा बी.जे.पी. शासन काल में भी मंत्री को टूयूशन पढ़ाने के कारण संबंध बताकर नियमविरूद्ध कार्य किये गये है।

अपनी बहन के लड़के मिर्जा को इनके द्वारा नियमविरूद्ध संपदा प्रबंधक बनाया जाना एवं उसके साथ मिलकर अनियमितता किये जाने की शिकायत के बावजूद इनके उच्च अधिकारियों एवं राजनैतिक लोगों का संरक्षण इनकों प्राप्त होने की जानकारी प्राप्त हुई है। एक प्राइवेट कंपनी के कर्मचारियों को नियमित कराने के नाम पर बड़ी वसूली किये जाने एवं नियमविरूद्ध उनको हाउसिंग बोर्ड के कर्मचारी बताकर अपने मतलब को सिद्ध करते रहे है ऐसी कई शिकायतों के बाद भी उच्च राजनैतिक संरक्षण के कारण कार्यवाही नहीं हुई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button