अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेसराष्ट्रीय

76.9 अरब डॉलर तक पहुंचा रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का नेटवर्थ

शानशान की संपत्ति में हुए इजाफे से वो एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए

नई दिल्ली: देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का नेटवर्थ इस साल बढ़कर 76.9 अरब डॉलर तक पहुंचा गया है. वहीँ शानशान की संपत्ति में इस साल खूब इजाफा हुआ है. उनकी नेटवर्थ इस साल 70.9 अरब डॉलर से बढ़कर 77.8 अरब डॉलर हो गई.

शानशान की संपत्ति में हुए इजाफे से वो एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं. झोंग शानशान अब न केवल एशिया के सबसे अमीर आदमी हैं, बल्कि उन्‍होंने अकूत संपत्ति अर्जित करने के मामले में चीन के सबसे रईस शख्स अलीबाबा के जैक मा को भी पीछे छोड़ दिया है.

जिनब्लूमबर्ग के आंकड़ों के मुताबिक झोंग शानशान से पहले अंबानी एशिया के सबसे धनी व्यक्ति थे. मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की वेल्थ इस साल 18 अरब डॉलर बढ़ी और वह 76.9 अरब डॉलर की वेल्थ के साथ एशिया के टॉप धनकुबेरों की सूची में दूसरे स्थान पर हैं. झोंग बोतल बंद पानी और कोरोना का टीका बनाने जैसे बिजनेस से जुड़े हैं.

झोंग का कारोबार पत्रकार‍िता, मशरूम की खेती और स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र तक फैला हुआ है. ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स की नई रिपोर्ट के मुताबिक, यह संपत्ति में तेज गति से बढ़ोतरी का अब तक का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है, वह भी ऐसे में जबकि इस साल तक उन्‍हें चीन से बाहर कम ही लोग जानते थे.

उनको सफलता दो कारणों से मिली. अप्रैल में उन्होंने बीजिंग वेन्टाई बायोलॉजिकल फार्मेसी एंटरप्राइज कंपनी से वैक्सीन विकसित की और कुछ महीनों बाद बोतलबंद पानी बनाने वाली नोंगफू स्प्रिंग कंपनी हांगकांग में सबसे लोकप्रिय में से एक बन गई.

नोंगफू के शेयरों ने अपनी स्थापना के बाद से 155 फीसदी की छलांग लगाई है और वेन्टाई ने 2,000 प्रतिशत से अधिक की छलांग लगाई है. अंबानी से पहले एशिया के सबसे धनी शख्‍स के तौर पर पहचाने जाने वाले चीन के टेक जाइंट जैक भी झोंग से काफी पीछे हैं. उनका नेटवर्थ 51.2 अरब डॉलर का बताया गया है. अक्‍टूबर के मुकाबले इसमें कमी दर्ज की गई है. अक्‍टूबर में उनके कारोबार का नेटवर्थ 61.7 अरब डॉलर था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button