मुकेश ने अमरीका में रचा इतिहास, प्रो ओलम्पिया में जीता स्वर्ण

द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन के शिष्य मुकेश सिंह ने अमेरिका के लॉस वेगास में आयोजित प्रो ओलम्पिया पावरलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में पहली बार भाग लेते हुए स्वर्ण पदक जीतकर और तिरंगा लहरा कर इतिहास रच दिया।

मुकेश ऐसा कारनामा करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। मुकेश ने मात्र 4 दिन में‘उपवास’की अपूर्व विधि से अपना वजन 10 किलोग्राम घटाया और 110 किलोग्राम वर्ग में 780 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण जीता। वह पहले 125 किलोग्राम वर्ग में खेलते रहे हैं। गुरु-शिष्य की इस अद्भुत जोड़ी ने अपनी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए भारत सरकार, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, अपने गुरुओं तथा अन्य शुभचिन्तकों के हर प्रकार के सहयोग के प्रति अपना आभार प्रकट किया ।

द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन ने पुरानी यादों में खोते हुए बताया कि किस प्रकार वह खेल पत्रिकाएं खरीद कर उन्हें हसरत भरी निगाहों से देखते थे और स्वप्न देखते थे कि कभी तो इन पत्रिकाओं में उनके शिष्यों की तस्वीरें छपेंगी। अब जबकि मुकेश ने उनका यह सपना पूरा कर दिखाया है तो उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा है ।

चैम्पियनशिप स्थल पर उपस्थित दो बार के वेटलिफ्टिंग चैंपियन मनजीत सिंह और उनकी टीम ने द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन और मुकेश को इस शानदार उपलब्धि के लिए बधाई दी।

Back to top button