मेघालय के गहरी खदान में फंसे मजदूरों को बचाने के लिए मशक्कत जारी, लेकिन नहीं मिली सफलता

वायुसेना, NDRF समेत कई एजेंसियां बीते दिनों ही अभियान को तेजी देने वहां पर पहुंची

नई दिल्ली।

मेघालय की 370 फुट गहरी खदान में पिछले कई दिनों से फंसे 15 मजदूर को बचाने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं, लेकिन गोताखोरों को अभी तक किसी तरह की सफलता हासिल नहीं हुई है।

रविवार को भी जो वायुसेना और NDRF की अगुवाई में अभियान चला उसका भी कोई खास नतीजा नहीं निकला. अब सोमवार को एक बार फिर मिशन मोड में काम को आगे बढ़ाया जाएगा. रविवार को खदान में कूदे डाइवर्स सतह तक पहुंचने में नाकाम रहे.

0-वायुसेना और NDRF के साखथ कई एजेंसियां बचाव कार्य़ में लगी

वायुसेना, NDRF समेत कई एजेंसियां बीते दिनों ही अभियान को तेजी देने वहां पर पहुंची हैं. कई एजेंसियों के इस संयुक्त अभियान की शुरुआत नौसेना के टीम लीडर लेफ्टिनेंट कमांडर संतोष खेतवाल ने की जो खोताखोरों को अंदर भेजने से पहले खुद खदान में पानी की सतह तक उतरे जहां उन्होंने स्थिति का जायजा लिया.

0-80 फुट ऊपर की गहराई तक पहुंचे

पूर्वी जयंतिया पर्वतीय जिले के पुलिस अधीक्षक सिल्वेस्टर नोंगटिंगर ने बताया कि भारतीय नौसेना और NDRF के छह गोताखोर खदान के भीतर गए और पानी की सतह से 80 फुट ऊपर की गहराई तक पहुंचे.

वे दो घंटे तक खनिकों का पता लगाते रहे. उन्होंने बताया कि नौसेना के अधिकारियों के मुताबिक सतह से पानी की गहराई खदान के तल तक करीब 150 फुट के आस-पास है<

advt
Back to top button