छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच को बनाया सुगम

मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच को काफी सुगम और सुविधाजनक बना दिया है।

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच को काफी सुगम और सुविधाजनक बना दिया है। उनके गांव, मोहल्ले घर के पास अस्पताल खुद चल कर आ रहा है। बाजार में खरीदी के साथ छोटी-मोटी बीमारियों की जांच व इलाज आसानी से हो जाता है। जिससे ग्रामवासियों को गांव से दूर अस्पताल जाकर ही इलाज कराने की चिंता से मुक्ति मिली है। इससे न केवल लोगों को अपने घर के पास ही उपचार मिलता है बल्कि रोगों की गंभीरता का पता भी चल जाता है।

जिससे यदि मरीज को आगे इलाज की जरुरत है तो बड़े अस्पताल रिफर किया जा सके।इसका सबसे बड़ा फायदा घर की महिलाओं, बच्चों और बूढों को हो रहा है जो पहले अस्पताल तक जाने के लिये किसी का आसरा ढूंढा करते थे। खासकर गर्भवती महिलाओं और नव प्रसुताओं व नवजात बच्चों की जिनकी रुटीन जांच भी हाट-बाजार में हो पा रही है।

02 अक्टूबर 2019 से योजना की शुरुआ

02 अक्टूबर 2019 से योजना की शुरुआत से रायगढ़ जिले में अब तक 1971 शिविर में 41616 मरीजों का उपचार किया गया। जिनमे सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार से लेकर ब्लड प्रेशर, मधुमेह, मलेरिया, टीबी, हीमोग्लोबिन, कुष्ठरोग, नेत्रविकार, गर्भवती महिलाओं और बच्चों की नि:शुल्क जांच और दवाइयों की सुविधा लोगों को मिली। मरीज की स्थिति गंभीर होने पर उन्हें अस्पतालों में रिफर किया गया। मरीजों की बीमारियों के लक्षण उससे बचाव व इलाज के संबंध में काउंसलिंग भी की गयी।

कोरोना काल में भी हाट बाजार क्लिनिक ने लोगों को इलाज मुहैय्या कराने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जब लोगों के मन में अपने गांव से बाहर निकलने को लेकर संशय था, चिकित्सकों ने उन तक पहुँच कर बीमारों का उपचार किया। इससे कोरोना संक्रमित की पहचान में भी सहूलियत हुयी। लोगों को कोरोना के संबंध में सही व सटीक जानकारी के साथ बचाव के तरीकों की जानकारी भी हाट बाजार क्लिनिक से मिली।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button