उत्तर प्रदेशराज्य

मुलायम-शिवपाल की गैरमौजूदगी में अखिलेश की ताजपोशी, 5 साल के लिए बने सपा अध्यक्ष

समाजवादी पार्टी का 10वां राष्ट्रीय सम्मेलन आज आगरा में शुरू हो गया है. अखिलेश यादव ने झंडारोहण करके कार्यक्रम का आगाज किया.

इस सम्मेलन में अखिलेश यादव को पांच साल के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया.

सपा महासचिव आजम खान, रामगोपाल यादव, नरेश अग्रवाल, धर्मेंद्र यादव सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता मंच पर मौजूद हैं, लेकिन सपां संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव राष्ट्रीय सम्मेलन में अभी तक नहीं पहुंचे हैं.

आगरा के तारघर मैदान में हो रहे सम्मेलन में उत्तर प्रदेश सहित 25 राज्यों के पार्टी प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं.

मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव की गैरमौजूदगी में सपा के नए संविधान के तहत राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर 5 वर्ष के लिए अखिलेश यादव की ताजपोशी हुई.

इस कार्यक्रम में देश भर के करीब 15 हजार सपा के प्रतिनिधियों के शामिल होने का दावा किया गया है. बुधवार की शाम को ही देश भर के सपा प्रतिनिधि आगरा पहुंच चुके हैं.

चाचा-भतीजे के बीच सुलह के आसार

पिछले 9 महीने से मुलायम कुनबे में कलह चल रही है. अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच दुश्मनी इतनी गहरी हो गई थी कि दोनों के बीच बातचीत का सिलसिला भी थम गया था. लेकिन अब दुश्मनी की बर्फ पिघलने लगी है.

बुधवार को शिवपाल ने अखिलेश को फोन करके अध्यक्ष बनने की अग्रिम बधाई दी, तो दूसरी ओर अखिलेश ने भी कहा कि चाचा शिवपाल का उन पर आशीर्वाद है और आगे भी रहेगा.

सपा कार्यकर्ताओं को मिलेगी नई दिशा

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अताउर्रहमान ने aajtak.in से बात करते हुए कहा कि देश भर के लोग इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन के जरिए पार्टी को एक नई दिशा और ऊर्जा मिलेगी.

आज के सम्मलेन में सपा को युवा नेतृत्व मिलने के साथ मौजूदा राजनीतिक स्थिति, केन्द्र सरकार की नीतियों और राष्ट्र के समक्ष अन्य ज्वलंत समस्याओं पर भी विचार किया जाएगा.

2019 लोकसभा चुनाव की तय रूपरेखा

अताउर्रहमान ने कहा कि इस सम्मलेन में 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी पर खाका खींचा जाएगा. मोदी और योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सपा के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर संघर्ष करेंगे.

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने जो यूपी को विकास की रफ्तार दी थी उस पर बीजेपी सरकार ने ब्रेक लगा दिया है. राज्य के लोग अखिलेश राज को याद कर रहे हैं.

आगरा सम्मेलन के जरिए पार्टी को नई दिशा मिलेगी. अताउर्रहमान ने कहा कि यूपी में होने वाले निकाय चुनाव को लेकर भी सम्मेलन में चर्चा होगी.

मुलायम के एजेंडे को भी किया गया शामिल

पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमले किए थे.

मुलायम ने किसानों की बदहाली से लेकर राजनीतिक और आर्थिक मुद्दे उठाए थे. सूत्रों की मानें तो अखिलेश यादव ने उन्हें आगरा सम्मेलन के प्रस्ताव में शामिल कर लिया है. उसके तहत भी चर्चा होगी.

एक दिन का सम्मेलन

बाते दें कि समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय सम्मेलन महज एक दिन का होगा. इससे पहले लखनऊ में हुए राज्य सम्मेलन भी एक ही दिन का था जिसमें आर्थिक और राजनीतिक प्रस्ताव के जरिये सपा ने केंद्र और प्रदेश की बीजेपी सरकार को महंगाई और कानून व्यवस्था आदि मुद्दों पर सवाल खड़े किए गए थे.

Summary
Review Date
Reviewed Item
मुलायम-शिवपाल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.