छत्तीसगढ़

मुंगेली : समर्थन मूल्य पर धान खरीदी होने से किसानों के चेहरे में खुशी की लहर

उपार्जन केन्द्रों में टोकन लेने और धान की तौलाई करने में नहीं हो रही किसी प्रकार की समस्या : किसान राजेन्द्र

मुंगेली 05 जनवरी 2021 : प्रदेश सरकार द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी हेतु पंजीकृत किसानों के लिए धान उपार्जन केन्द्रों में बनाई गई सुव्यवस्थित व्यवस्था से किसानों में खुशी व्याप्त है। मुंगेली जिले के सभी 93 धान खरीदी केंद्रों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का कार्य 01 दिसंबर से चल रहा है।

खरीदी केन्द्रों में धान बेचने के लिए आए किसानों में उमंग एवं खुशी देखने को मिल रहा है। किसान भोर होते ही अपने साधनों जैसे ट्रैक्टर, पिकअप सहित छोटी गाड़ियों, अथवा बैलगाड़ियों में धान भरकर उर्पाजन केन्द्र पहुंच रहे है। उपार्जन केन्द्रों में किसानों को अपनी उपज बेचने हेतु टोकन प्राप्त करने और तौलाई करने में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं हो रही है। खरीदी केन्द्रों में टोकन देने से पहले धान की नमी परीक्षण भी किया जा रहा है।

जिले के धान उपार्जन केंद्र नवागां घुठेरा में धान बेचने आए मुंगेली के ग्राम ढ़बहा के 45 वर्षीय किसान राजेन्द्र कुमार ने बताया कि उन्हें 04 दिसम्बर को लगभग 40 क्विंटल धान का टोकन जारी हुआ है। उनके द्वारा आज लगभग 100 बोरी धान खरीदी केन्द्र में विक्रय के लिए लाया गया है। उन्होंने बताया कि खरीदी केंद्र में टोकन लेने और धान की तौलाई करने में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं हुई है। खरीदी केन्द्रों में टोकन देने से पहले धान की नमी परीक्षण भी किया गया।

किसान राजेन्द्र कुमार ने बताया

किसान राजेन्द्र कुमार ने बताया कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी करना प्रदेश सरकार की सराहनीय पहल हैं। समर्थन मूल्य पर धान खरीदीे होने से सभी किसानों को उनके उपज और मेहनत का सही मूल्य मिल रहा है। साथ ही राज्य शासन द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत बोनस दी जा रही है। उन्होने बताया कि इस वर्ष धान बिक्री से मिलने वाली कुछ राशि का उपयोग वे आगामी रबी फसलों की तैयारी, उन्नत किश्म की बीज एवं खाद की खरीदी करेगे। उन्होने बताया कि उन्हे उम्मीद है कि इससे रबी फसल के उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी और वे अपने घरेलू आवश्यकताओं की पूर्ति आसानी से कर सकेंगे।

राजेन्द्र कुमार ने बताया कि राज्य शासन द्वारा धान खरीदी की व्यवस्था से वे पूरी तरह संतुष्ट हैं। उपार्जन केन्द्र में किसानों को धान बेचने में कोई असुविधा नहीं हो रही हैं यहॉ धान बेचने आने वाले किसानों के लिए पेयजल एवं छाया की व्यवस्था भी की गई। खरीदी केन्द्रों में आने वाले किसानों को मास्क के उपयोग, 2 गज की दूरी का पालन सहित कोविड-19 गाईडलाईन का पालन करने के निर्देश भी दिए जा रहे है। उन्होंने निर्धारित समर्थन मूल्य पर धान खरीदी करने के लिए प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन को सहृदय धन्यवाद दिया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button