मुंगेली : कलेक्टर ने की महिला एवं बाल विकास विभाग के काम-काज की समीक्षा

अचानकमार टाईगर रिजर्व क्षेत्र के 40 ग्रामों के 06 वर्ष तक के प्रत्येंक बच्चे को अण्डा उपलब्ध कराने के दिये निर्देश

मुंगेली 10 जुलाई 2021 : कलेक्टर अजीत वसंत ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर उनके काम-काज की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर वसंत ने मुख्यमंत्री कुपोषण अभियान की समीक्षा करते हुए कहा कि मुंगेली जिला कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने की दिशा में तीव्रगति से आगे बढ़ रहा है। जिले में कुपोषण की दर 10 प्रतिशत को और कम किया जाएगा।

इस हेतु उन्होने महिला एवं बाल विकास के अधिकारियों को समन्वय स्थापित कर कार्य करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि इस योजना के प्रथम चरण में अचानकमार टाईगर रिजर्व (एटीआर) क्षेत्र के 15 ग्राम पंचायत के 40 ग्रामों के 06 माह से 03 वर्ष आयु समूह के मध्यम एवं गम्भीर कुपोषित तथा 03 वर्ष से 06 वर्ष के प्रत्येंक बच्चो को निःशुल्क अण्डा दिया जाएगा। इस संबंध में उन्होने महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

नोनी सुरक्षा योजना 

बैठक में उन्होने नोनी सुरक्षा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि बालिकाओं की शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार लाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना में 01 अप्रैल 2014 के बाद पैदा हुई लड़की को शामिल की गई है। इस योजना के तहत गरीबी रेखा श्रेणी के एक परिवार के 18 साल की 12वीं पास कर चुकी बेटी को 1 लाख रूपये तक की वित्तीय सहायता दी जाती है।

उन्होने इस योजना को गंभीरता से लेते हुए 01 अप्रैल 2014 के बाद पैदा हुई लडकियो का सर्वे करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने भवनविहीन आंगनबाडी केंद्र तथा किराये में संचालित आंगनबाडी केंद्रो के बारे में जानकारी प्राप्त की और आंगनबाडी भवन निर्माण हेतु आवश्यक निर्देश दिये। इसी क्रम में उन्होने रेडी-टू-ईट पौष्टिक आहार की वितरण और गुणवत्ता के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होने गुणवत्ता युक्त रेडी-टू-ईट का वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

बैठक में उन्होने मुख्यमंत्री बाल सुंदर योजना की समीक्षा करते हुए बच्चों की स्वास्थ्य जाॅच हेतु स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये। इसी तरह उन्होने सुकन्या समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व योजना, सक्षम योजना, स्वावंलबन योजना सहित आदि योजनाओं की विस्तारपूर्वक समीक्षा की और आवश्यक निर्देश दिये।

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र कश्यप ने विभिन्न योजनाओं की प्रगति की संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी रोहित व्यास, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. त्रिलोकी नाथ महिंग्लेश्वर एवं सभी परियोजना के परियोजना अधिकारी और सभी परियोजना के सुपरवाईजर उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button