मुशर्रफ ने PAK कोर्ट में पेश होने के लिए रखी शर्त

पेशावरः देशद्रोह के मामले में फंसे पाकिस्तान के पूर्व सैन्य तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ (74) ने कोर्ट में पेश होने के लिए शर्त रख दी है। मुशर्रफ ने विशेष अदालत से कहा है कि यदि उन्हें रक्षा मंत्रालय की ओर से सुरक्षा दी जाती है तो वह कोर्ट में पेश होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवाज शरीफ के नेतृत्व वाली सरकार ने पूर्व आर्मी चीफ मुशर्रफ पर देशद्रोह का केस दर्ज कराया था। नवंबर, 2007 में संवैधानिक अधिकारों का गलत इस्तेमाल कर इमरजेंसी लगाए जाने के आरोप में उन पर यह केस गर्द किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लाहौर हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस मुहम्मद यावर की अध्यक्षता वाली बेंच ने आंतरिक मामलों के मंत्रालय से इस संबंध में सम्मन जारी कर 27 अगस्त तक जवाब मांगा है। बेंच इस बात पर भी विचार करेगी कि मुशर्रफ का बयान दर्ज किए बना उनके खिलाफ मामला जारी रखना चाहिए या नहीं। बता दें कि इन दिनों दुबई में रह रहे मुशर्रफ ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पाकिस्तान लौटने से इनकार कर दिया है।

अदालत में पूर्व राष्ट्रपति का पक्ष रखने वाले एडवोकेट अख्तर शाह ने कहा कि उनके मुवक्किल अदालत में पेश हो जाएंगे, यदि डिफेंस मिनिस्ट्री की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। रिपोर्ट के मुताबिक अदालत ने कहा कि यह संघीय सरकार की ड्यूटी है कि वह आरोपी को पूरी सुरक्षा मुहैया कराए और सुनवाई को 27 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.

Back to top button