छत्तीसगढ़

ग्राम महेशपुर में महिलाओं को सिखाया गया मशरूम उत्पादन

अरविन्द शर्मा:

कटघोरा: आज महेशपुर में उद्योगिनी संस्थान द्वारा ग्रामीण महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के उद्देश्य से मशरूम उत्पादन करना सीखाया गया, मशरूम उत्पादन के लिए मशरूम के बीज व अन्य आवश्यक सामग्री उद्योगिनी संस्थान के द्वारा प्रदान करने के साथ ट्रेनिंग एवम प्रयोग कर के लगभग 20 महिलाओं की टीम बनाकर यह उद्योग प्रारंभ कराया गया है।

आज मशरूम उत्पादन की वैज्ञानिक पद्धति से कम खर्च व कम जगह पर उत्पादन करना बताया गया, आज धान काटने के पश्चात बचे हुए पैरा का उपयोग मशरूम के लिए किया जा रहा है। वैसे तो मशरूम 4-5प्रकार के होते है जिसमें से आयस्टर मशरूम के उत्पादन को शासन की योजनान्तर्गत कराया गया,

इस ट्रेनिंग में मास्टर ट्रेनर के रूप में राज वर्मा जी ने बताया कि यह ऑयस्टर मशरूम स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होता है और इस मशरूम को अच्छे कीमत पर बाजार में बेचकर अच्छी आमदनी लिया जायेगा और इस मशरूम को सुखाकर पावडर बनाकर भी उपयोग में लाया जाता है। उक्त ट्रेनिंग में उद्योगिनी संस्थान के कोरबा जिले के प्रोजेक्ट मैनेजर श्री अशोक मिश्रा जी , मनीष जी, रमाकांत जी, व ट्रेनर के रूप में श्री राज वर्मा उपस्थित थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button