उत्तर प्रदेशराजनीति

संगीत सोम ने कहा ताजमहल खूबसूरत इमारत, लेकिन हमारी सांस्कृतिक धरोहर नहीं

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के पर्यटक स्थलों के बारे में छपवाई गई एक पुस्तिका से ताजमहल को हटा देने का विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि बीजेपी के विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को लेकर एक सनसनीखेज बयान देकर फिर से इस विवाद को जिंदा कर दिया. मेरठ के सरधना से बीजेपी के विधायक संगीत सोम ने रविवार को मेरठ में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि ताज महल को गद्दारों ने बनवाया था और उसका इतिहास भारत की संस्कृति पर एक दाग की तरह है.

संगीत सोम ने कहा कि जब पुस्तिका से ताजमहल का नाम हटाया गया तो बहुत बवाल मचा, लेकिन आखिर मैं जानना चाहता हूं कि वह किस इतिहास की बात कर रहे हैं. संगीत सोम ने यह भी कहा कि ताज महल को उन लोगों ने बनवाया था जिन्होंने कत्लेआम कराया और अपने पिता को जेल में बंद किया. ऐसे लोगों का इतिहास हमारा इतिहास नहीं हो सकता.

संगीत सोम के इस बयान के बाद यह विवाद फिर से भड़क गया और बीजेपी ने इस बयान से खुद को अलग करते हुए कहा कि यह उनका व्यक्तिगत मत हो सकता है और पार्टी का मत नहीं है. लेकिन आज तक से खास बातचीत में संगीत सोम अपनी बात पर अडिग रहे और कहा कि ताजमहल हमारी सांस्कृतिक धरोहर नहीं हो ही नहीं सकता. यह एक खूबसूरत इमारत और मकबरे से ज्यादा कुछ नहीं है.

जब संगीत सोम से पूछा गया कि क्या वह सांप्रदायिकता की राजनीति कर रहे हैं तो उल्टा उन्होंने कहा कि दरअसल हुआ यह है कि कांग्रेस ने तुष्टिकरण करते हुए एक खास वोट बैंक को खुश करने के लिए गलत तरीके से इतिहास लिखवाया है.

सोम ने कहा कि उनका नाम दंगों में घसीटा गया क्योंकि समाजवादी पार्टी की सरकार थी लेकिन कुछ भी साबित नहीं हो सका. मामले की जांच के लिए जो एसआईटी बनाई गई थी, उसने खुद कहा कि संगीत सोम के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला. हम लोग धर्म की राजनीति नहीं करते हैं, हम विकास की बात करते हैं लेकिन बच्चों को जो गलत इतिहास पढ़ाया जा रहा है, उसे बदलना जरूरी है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
संगीत सोम
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *