फेसबुक ने मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों में म्यांमार सेना प्रमुख को किया बैन

यांगून: फेसबुक ने म्यांमार के सेना प्रमुख तथा सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी को संयुक्त राष्ट्र की जांच अनुशंसा के बाद प्रतिबंधित कर दिया है। जांच अनुशंसा में कहा गया है कि रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ कार्रवाई में जनसंहार के लिए उन पर अभियोग चलाया जाए।

लंबे समय से सेना के शासन में रहे इस देश में फेसबुक खबर और सूचना प्राप्त करने का प्राथमिक स्रोत है। लेकिन यह मंच सेना और कट्टरपंथी बैद्धों के घृणा फैलाने वाले भाषणों तथा रोहिंग्याओं और अन्य अल्पसंख्यकों के खिलाफ भड़काने वाले पोस्ट करने का मंच भी बन गया है। संयुक्त राष्ट्र जांचकर्ताओं ने इस साल की शुरूआत में फेसबुक की आलोचना की थी।

फेसबुक ने कहा हम फेसबुक से बर्मा के 20 लोगों और संगठनों को बैन कर रहे हैं, जिसमें सशस्त्र बलों के कमांडर इन चीफ सीनियर जनरल मिन ऑंग हलांइंग शामिल हैं। साथ ही कहा कि वह इन्हें जातीय और धार्मिक तनाव को आगे बढ़ाने के लिए उसकी सेवा का इस्तेमाल करने से रोकना चाहता है। सेना प्रमुख के दो एक्टिव फेसबुक एकाउंट हैं। एक में इनके 13 लाख फॉलोवर हैं और दूसरे में 28 लाख।

Back to top button