राज्य

दूध-पानी में धातु कणों की वजह से आंध्र प्रदेश में हो रही रहस्यमयी बीमारी

विशेषज्ञों की जांच में खुलासा

आंध्र प्रदेश के एलरु में फैल रही रहस्यमयी बीमारी (Mystery Illness) के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है, जांच में पता चला है कि दूध और पानी में कांच के कण (Leas and Nickel) ही रहस्यमयी बीमारी की मुख्य वजह है. कांच के कणों की वजह से ही करीब 500 लोग बीमार (Sick) हो गए हैं, वहीं एक की मौत हो गई है.

एम्स (AIIMS) और दूसरे अस्पतालों के विशेषज्ञों (Experts) की टीम ने आज अपनी शुरुआती जांच रिपोर्ट (Report) सीएम जगन मोहन रेड्डी को सौंप दी है, जिसमें बताया गया है, कि पानी और दूध (Water Or Milk) में कांच के कण होने की वजह से लोग बीमार हो रहे हैं.

खून में मिले कांच और निकल के कण

मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी की गई विज्ञप्ति में बताया गया है कि मरीजों के खून के सैंपल में कांच और निकल के कण मिले हैं, जिसकी वजह से लोग रहस्यमयी बीमारी की चपेट में आ गए हैं, यह रिपोर्ट एम्स के विशेषज्ञों ने तैयार की है. इस बीमारी की वजह से लोग शनिवार से अचानक बेहोश हो रहे हैं, उन्हें मिर्गी के दौरे पड़ रहे हैं

जीजीएच के डॉक्टरों के मुताबिक मरीजों में मिल रहे लक्षणों में कुछ देर के लिए मिर्गी के दौरे होना, कुछ मिनटों के लिए भूलना,तिंता, उल्टी, सिरदर्द और पीठ दर्द जैसे लक्षण शामिल हैं. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी और दूसरे संस्थानों अभी और भी परीक्षण कर रहे हैं, उनके रिजल्ट्स भी ज्लदी ही सामने आने की उम्मीद जातई जा रही है.

सीएम रेड्डी ने दिए सख्त जांच के आदेश

मुख्यमंत्री जगन मोहन ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि मरीजों के शरीर में धातु मिलने के लिए कड़ी जांच की जाए, इसके साथ ही इलाज में नजर रखने के लिए एक टीम का गठन किया जाए.

आंध्र प्रदेश के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक करीब 505 लोग इस बीमारी की चपेट में आए हैं, जिनमें 370 से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं, वहीं 120 लोगों का इलाज अस्पताल में चल रहा है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button