छत्तीसगढ़

मध्यप्रदेश के मजदूरों को जब अंतरराज्यीय बैरियर तक खुद छोड़ने गए नगर पंचायत अध्यक्ष राकेश जालान

प्रवासी मजदूरों की जाये तो सरकार उनके सकुशल घर वापसी में लगी हुई है।

रितेश गुप्ता 

पेंड्रा: कोरोना वैश्विक महामारी में शासन से लेकर प्रशासन तक हर कोई अपने अपने स्तर पर लोगों की मदद कर रहे हैं। वहीं जनप्रतिनिधि भी इस कार्य में पीछे नहीं हैं। उनका भी भरपूर सहयोग इस आपदा काल में मिल रहा है। बात अगर प्रवासी मजदूरों की जाये तो सरकार उनके सकुशल घर वापसी में लगी हुई है। पर यदि शासन प्रशासन से चूक हो भी जाए तो जनप्रतिनिधि इस दायित्व को बखूबी निभाते हैं।
ऐसे ही लोकप्रिय जनप्रतिनिधि हैं पेंड्रा नगर पंचायत के अध्यक्ष राकेश जलान। जो कि कोरोना काल में दिन-रात लोगों की मदद कर रहे हैं।

मजदूरों को छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश की सीमा पर खैरझिटी बेरियर तक छोड़ने गए

पेण्ड्रा नगर पंचायत अध्यक्ष राकेश जालान को जब इस बात की जानकारी मिली कि उनके नगर क्षेत्र में बाहर से प्रवासी मजदूर पैदल आये हैं। जिनमें कुछ महिलाएं व बच्चे भी थे और वो सभी प्रवासी मजदूर मध्यप्रदेश जाना चाहते थे। इसकी जानकारी मिलते ही वो खुद उनके पास गए और उनका हालचाल जाना। व प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को देखते हुए गाड़ी की व्यवस्था कर मजदूरों को छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश की सीमा पर खैरझिटी बेरियर तक छोड़ने गए। ताकि प्रवासी मजदूरों को मध्यप्रदेश पहुंचने में किसी तरह की समस्या न हो।

ज्ञात हो कि पेंड्रा नगर पंचायत के अध्यक्ष राकेश जलान इस संक्रमण काल मे लोगों की लगातार सेवा कर रहे हैं। गरीबों की मदद की करना व आगे आकर उन्मुक्त रूप जनता की सेवा कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त शहर के गंदी नालियों की साफ-सफाई हो या शहर का कूड़ा करकट साफ करवाना हो या शहरवासियों को स्वच्छ जल उपलब्ध कराना हो वे अपनी इस जिम्मेदारी को भी बखूबी निभा रहे हैं।

Tags
Back to top button