छत्तीसगढ़

नायब तहसीलदार दीपका शशि भूषण ने बसावट के लिए प्रस्तावित स्थल का मुआयना किया

5 साल बीत जाने के बाद भी एस.ई.सी.एल प्रबंधन द्वारा पुनर्वास हेतु जगह का आबंटन नहीं किया गया है

रायपुर: एसईसीएल गेवरा विस्तार परियोजना के लिए अधिग्रहित ग्राम भठोरा के बसावट के लिए प्रस्तावित स्थल का मौका मुआयना नायब तहसीलदार दीपका शशि भूषण सोनी द्वारा किया गया है,

इस दौरान SECL गेवरा के अधिकारी अविनाश शुक्ला,नरसिम्हा राव एव उपसरपंच गणपति बाई, छोटे नोनी,पंचराम राठोर, रामायण सिंह,सोनु राठोर, रामेश्वर सिंह प्यारे लाल व अन्य उपस्थित थे

एस.ई.सी.एल प्रबंधन द्वारा अबतक नहीं किया गया पुनर्वास हेतु जगह का आबंटन

विदित हो कि ग्राम भठोरा के जमीन का मुआवजा अवार्ड सन 2014 में किया जा चुका है लेकिन 5 साल बीत जाने के बावजूद अभी तक पुनर्वास हेतु जगह का आबंटन एस.ई.सी.एल प्रबंधन द्वारा नहीं किया गया है और दूसरी ओर प्रबंधन द्वारा ग्राम भठोरा के जमीन के ऊपर मिट्टी खनन व कोयला उत्खनन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। आए दिन हैवी ब्लास्टिंग के कारण बड़े-बड़े पत्थर के टुकड़े ग्रामवासी के घरों में गिर रहे हैं जिससे ग्राम निवासियों का जान का खतरा बना रहता है एवं भय पूर्ण वातावरण मे जीवन व्यतीत करने के लिए मजबूर है।

आज नायब तहसीलदार महोदय दीपका द्वारा गंगानगर के बगल में स्थित जमीन का निरीक्षण किया गया एवं गंगानगर में अतिरिक्त बचे हुए जमीन का भी निरीक्षण किया गया दोनों जगह में कुछ ना कुछ तकनीकी दिक्कत आ रही है। अगर राज्य शासन पहल करेगी तो जल्द ही ग्राम भठोरा को बसावट की सुविधा मिल पाएगी।

Tags
Back to top button