बस्तर की नैना सिंह धाकड़ ने भागीरथी-2 किया फतह

जगदलपुर। बस्तर जिले की पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ ने इतिहास रच दिया है. उन्होंने 6 हजार 512 मीटर ‘भागीरथी 2’ को फतह कर लिया है. नैना ने बस्तर पुलिस के झंडे को यहां फहराया. बस्तर पुलिस की एंबेसडर के तौर पर उन्होंने यहां बस्तर पुलिस और भारत के राष्ट्रीय ध्वज को फहराया.

बता दें कि नैना सिंह धाकड़ ने हिमाचल प्रदेश में भागीरथी 2 की चढ़ाई की. उन्हें बस्तर पुलिस ने यहां का प्रतिनिधित्व करने के लिए पुलिस का झंडा सौंपा था. एसपी आरिफ शेख ने नैना को बस्तर पुलिस का झंडा सौंपा था. आखिरकार अपनी कड़ी मेहनत के बलबूते उन्होंने भागीरथी 2 के 6,512 मीटर का लक्ष्य हासिल कर लिया.

बता दें कि नैना सिंह धाकड़ को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एनएसएस की बस्तर विश्वविद्यालय की टीम के साथ 2010 में पर्वतारोहण के लिए जाने का मौका पहली बार मिला था. इसके बाद पर्वतारोहण में कुछ बड़ा करने का उन्होंने ठान लिया. उन्होंने हिमाचल प्रदेश, नेपाल, भूटान में पर्वतारोहण के लिए एडवांस प्रशिक्षण लिया. 2015 में उत्तराखंड में प्रशिक्षण लिया. फिर इनका सपना था कि ये भागीरथी फेस 2 की चढ़ाई करें, जो समुद्र तल से 6,512 मीटर की ऊंचाई पर है.

पर्वतारोही बनना था सपना

नैना सिंह धाकड़ को बचपन से ही पर्वतारोहण को लेकर लगाव था. 2010 में NCC कैंप के दौरान वे पहली बार हिमाचल प्रदेश गईं. फिर 2011 में टाटा स्टील की ओर से उन्हें चयनित किया गया. उन्हें देश की पहली महिला पर्वतारोही बछेंद्री पाल की टीम में भूटान ट्रैक में शामिल होने का मौका मिला था. 12 महिलाओं के दल द्वारा किए गए पर्वतारोहण को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी स्थान मिला था. 2012 में उन्हें टाटा स्टील जमशेदपुर ने पर्वतारोहण के बेसिक कोर्स के लिए दार्जिलिंग भेजा.

बस्तर पुलिस का मिला हर कदम पर सहयोग
नैना के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए आईजी बस्तर विवेकानंद सिन्हा और एसपी आरिफ शेख ने सहयोग किया. बस्तर पुलिस के सहयोग से उन्होंने भागीरथी 2 में बस्तर पुलिस और भारत के राष्ट्रीय धवज को फहराया. नैना का अगला लक्ष्य साल 2018 में मांउट एवरेस्ट फतह करने का होगा.

Back to top button