मतदाता सूची में नाम जुड़वाने को 31 से अभियान

अजय शर्मा :

बिलासपुर . नवंबर-दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए नए मतदाताओं को मतदाता सूची में नाम जुडवाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने अंतिम अवसर दिया है।

31 जुलाई से 21 अगस्त तक मतदाता सूची का संक्षिप्त पुनरीक्षण किया जाएगा। इस दौरान नाम जुड़वाने से लेकर विलोपित कराने और संशोधन की प्रक्रिया भी पूरी की जाएगी।

आयोग ने प्रदेशभर के कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारियों को पत्र लिखकर सभी मतदान केंद्रों में तीन प्रकार के फार्म की उपलब्धता के निर्देश दिए हैं।
चुनाव आयोग के इस निर्देश के बाद राजनीतिक दल के नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं की सक्रियता एक बार फिर बढ़ जाएगी।

समर्थक मतदाताओं का नाम न सूची में शामिल कराने एक बार फिर डोर.टू.डोर संपर्क का दौर शुरू होगा । चार महीने बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव होना है। इसे देखते हुए आयोग के इस निर्देश को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

खासकर उन मतदाताओं के लिए जो 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके हैं और जिनको नवंबर मंं होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान पहली बार वोट डालने का अवसर मिलेगा ।

वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए मृत या फिर दिए गए पते से बाहर जाने वाले लोगों के नाम विलोपित करने या मतदाता सूची में त्रुटि होने की स्थिति में संशोधन का अवसर भी मिलेगा ।

इसी स्थिति में सूची में नाम शामिल करने से लेकर विलोपित किया जाएगा। इसके लिए 21 अगस्त की तिथि तय की गई है। इसके बाद 27 अगस्त को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा।

शहर विधानसभा की मतदाता सूची को लेकर विवाद

बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची को लेकर विवाद की स्थिति है। शहर कांग्रेस कमेटी ने 30 हजार मतदाताओं के नाम विलोपित किए जाने को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी।

शिकायत में आरोप लगाया गया है कि मतदाता सूची में दिए गए पते में रहने वाले दो दर्जन से ज्यादा मतदाताओं के नाम को बाहरी करार देते हुए जबरिया विलोपित कर दिया गया है।

दिव्यांग मतदाताओं के लिए बनेंगे रैंप

आयोग के निर्देश पर गौर करें तो दिव्यांग मतदाताओं की सुविधाओं के लिए मतदान केंद्र में रैंप बनाया जाएगा। रैंप के अलावा बिजलीएपानी व छाया की सुविधा भी मुहैया कराई जानी है।

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। 31 जुलाई से 21 अगस्त तक मतदाताओं के नाम जोड़ने के अलावा विलोपित व संशोधित करने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। सभी पोलिंग बूथों में बीएलओ की तैनाती रहेगी ।
बीएस उइके, उप जिला निर्वाचन अधिकारी

advt
Back to top button