इस विधानसभा और तहसील का बदला जाए नाम, बीजेपी सांसद की सीएम योगी से मांग

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गाज़ीपुर जनपद के सैदपुर में एक जनसभा की, जहां उनकी मौजूदगी में बलिया से बीजेपी के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने अपने संबोधन में किसानों से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो किसानों के लिए कर दिया वो किसी ने नहीं किया.
साथ ही उन्होंने गाजीपुर में पड़ने वाली उनकी दो विधानसभाओं- मोहम्दाबाद और जहूराबाद के तहसील मुख्यालय कासिमाबाद का नाम बदलने की मांग कर दी. सांसद ने मोहम्दाबाद को शहीद शिवपूजन राय के नाम से शिवपूजन नगर और कासिमाबाद को राजा सुहेलदेव के नाम से सुहेलदेव नगर किए जाने की मांग की.

गाज़ीपुर में कुल सात विधानसभाएं हैं, जिनमें पांच गाज़ीपुर लोकसभा में आती हैं, जबकि 2 सीमावर्ती जिला बलिया की लोकसभा में आती है, वो हैं मोहम्दाबाद और जहूराबाद. मोहम्दाबाद विधानसभा भूमिहार बाहुल्य क्षेत्र है और इतिहास को टटोलेंगे तो सन् 1942 के अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन के अमर शहीद शिवपूजन राय समेत आठ लोगों ने मोहम्दाबाद तहसील पर अपनी जान की आहुति दे दी थी. बसपा सांसद अफजाल अंसारी यहीं के मूल निवासी हैं, जबकि पूर्व गाज़ीपुर सांसद और जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी इसी क्षेत्र के मोहनपुरवा ग्रामसभा के निवासी हैं

वहीं, दूसरी विधानसभा जहूराबाद का तहसील मुख्यालय है कासिमाबाद, जो राजभर बाहुल्य क्षेत्र माना जाता है. यहां से सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर मौजूदा विधायक भी हैं, जो 2017 के चुनाव में बीजेपी की मदद से चुनाव लड़े और जीते. यहां अति पिछड़ी और अनुसूचित जनजाति में राजभर समाज का बाहुल्य माना जाता है.

बीजेपी सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त की इस मांग को आगामी चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है. जो वाकई वोटरों के साथ बीजेपी को भी जरूर भाएगी. जिस वक्त ये बात उन्होंने कही उस समय गाज़ीपुर के तीनों बीजेपी विधायक और स्थानीय निकाय के एमएलसी भी मंच पर मौजूद थे. सीएम योगी आदित्यनाथ भी उसी मंच पर थे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button