छत्तीसगढ़

बेहद ही सरल व्यक्तित्व के धनी हैं नाना पटोले – प्रकाशपुंज पांडेय

प्रकाशपुन्ज पाण्डेय और नाना भाऊ पटोले के बीच हुई चर्चा

रायपुर: छत्तीसगढ़ के राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पांडेय ने मीडिया के माध्यम से बताया कि हाल ही में चुने गए महाराष्ट्र विधान सभा के अध्यक्ष नाना पटोले जोकि काँग्रेस की ओर से साकोली विधानसभा महाराष्ट्र क्षेत्र के चुने हुए विधायक हैं, वह एक सरल व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति हैं।

ज्ञात हो कि नाना पटोले वही इंसान है जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़कर विधानसभा में जीत हासिल की थी और उसके बाद 2014 में भाजपा की टिकट पर सांसद का चुनाव लड़कर जीता था।

लेकिन कुछ वर्षों पश्चात सांसद रहते हुए उन्होंने कहा था कि वे किसानों और आम जनता के मुद्दों को लेकर जब नरेंद्र मोदी से मिलते हैं तो वहां उनकी कोई सुनवाई नहीं होती क्योंकि भाजपा का आला-कमान गरीबों के नहीं बल्कि बड़े-बड़े व्यापारियों के हित में ज्यादा सोचता है जिसके बाद उन्होंने अपने सांसद पद से इस्तीफ़ा देने के बाद कांग्रेस पार्टी को ज्वाइन किया और कांग्रेस पार्टी ने भी उन्हें पुरस्कृत करते हुए उनकी प्रतिभाओं का सम्मान करते हुए।

उनके राजनीतिक सरल जीवन और मजदूरों, किसानों और ग़रीबों के प्रति उनके संघर्ष को देखते हुए उन्हें राष्ट्रीय किसान कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया और 2018 के विधानसभा चुनाव में उनकी सक्रिय भूमिका के कारण राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में किसानों के दम पर कांग्रेस पार्टी ने चुनाव भी जीता इसलिए नाना पटोले की भूमिका बेहद ही मानी जाती है।

प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने कहा कि नाना पटोले एक ऐसे व्यक्ति हैं जिनमें बिल्कुल भी अहंकार नहीं है। वे महाराष्ट्र विकास आघाडी की सरकार बनने के बाद महाराष्ट्र के विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए हैं लेकिन आज भी जब उनसे मुलाकात होती है तो ऐसा लगता है कि वे 20 साल पुराने वाले नाना पटोले ही हैं जो बेहद ही सरल और जमीन से जुड़े व्यक्तित्व के धनी हैं।

बधाईयाँ देने के लिए औपचारिक रूप से भेंट

मंगलवार दिनांक 17 दिसंबर 2019 को शाम को नागपुर में प्रकाशपुन्ज पाण्डेय की महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष नाना भाऊ पटोले से बधाईयाँ देने के लिए औपचारिक रूप से भेंट और चर्चा हुई थी। इस अवसर पर प्रकाशपुन्ज पाण्डेय के साथ रायपुर छत्तीसगढ़ के यूनियन लीडर अजय शर्मा और नागपुर से नाना पटोले के करीबी सूर्यकांत इल्में (छोटे नाना), समाज सेवक असद खान व राजीव यंगड़ भी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Tags
Back to top button