मराठा आरक्षण पर नारायण राणे ने कहा – सरकार ऐसा फैसला ले जिस पर समुदायव भरोसा कर सके

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि मराठा आरक्षण को लेकर सरकार ऐसा कोई फैसला लेगी जिस पर समुदाय भरोसा कर सके. हालांकि उन्होंने यह भी दावा किया कि सरकार की तरफ से मुद्दे पर नकारात्मक प्रतिक्रिया आई है. बीजेपी के राज्यसभा सदस्य राणे ने कहा कि वह मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से तब मिले थे जब मराठा आरक्षण आंदोलन राज्य में रफ्तार पकड़ रहा था.

राणे ने कहा, कुछ लोगों ने आत्महत्या कर ली हिंसा हुई है. सरकार की तरफ से आरक्षण पर नकारात्मक प्रतिक्रिया आई है. मैं मुख्यमंत्री से अपील करता हूं कि यह सब रुकना चाहिए.

फडणवीस भी चाहते हैं कि आंदोलन और हिंसा रुके : बीजेपी नेता ने कहा, फडणवीस भी चाहते हैं कि आंदोलन और हिंसा रुके. मैं कुछ प्रदर्शनकारियों से मिला जिन्होंने मुझसे कहा कि वे सरकार से तत्काल फैसला लेने की उम्मीद करते हैं. मैं इस संबंध में फिर से फडणवीस से मिलूंगा.

उन्होंने कहा, मैं सरकार से एक ऐसा फैसला लेने की उम्मीद करता हूं जिसपर समुदाय भरोसा करे. मैं मध्यस्थता नहीं कर रहा क्योंकि इसी समुदाय से आता हूं. सांसद ने दावा किया कि राज्य सरकार मराठा समुदाय को आरक्षण देने में सक्षम है और आरोप लगाया कि फडणवीस सरकार में शामिल शिवसेना , समुदाय के लिए आरक्षण का विरोध कर रही है.

Back to top button