मोदी की ललकार, गुजरात के लिए गांधी-नेहरू परिवार में कभी नहीं रहा है प्यार

गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख का बस ऐलान होना बाकी है. लिहाजा मोदी से लेकर राहुल गांधी…सब लगातार गुजरात का दौरा कर रहे हैं. राहुल के दौरे के बाद अब बारी प्रधानमंत्री मोदी की थी. गुजरात पहुंचे मोदी ने राहुल गांधी के साथ-साथ पूरे गांधी-नेहरू परिवार पर सीधा हमला बोल दिया.

‘गांधी परिवार को चुभता है गुजरात’

मोदी ने गुजरात गौरव यात्रा के समापन के मौके पर गांधीनगर के भट गांव में पार्टी के राज्य भर के पन्नाप्रमुखों को संबोधित करते हुए गांधी-नेहरू परिवार को  गुजरात विरोधी बता दिया.

मोदी ने कहा ‘गांधी-नेहरू परिवार और कांग्रेस पार्टी के लिए गुजरात हमेशा आंखों में चुभता रहा है. सरदार पटेल से लेकर उनकी बेटी तक के साथ इस परिवार ने क्या किया यह सबको पता है.’

मोदी ने कांग्रेस और गांधी-नेहरू परिवार को सरदार पटेल विरोधी बताकर गुजरात के लोगों की हमदर्दी लेने की पूरी कोशिश की.

पिछले कई सालों से सरदार पटेल की विरासत पर दावेदारी कर मोदी ने कांग्रेस पर पटेल का अपमान करने का आरोप लगाया है.

क्या-क्या लगाएं आरोप?

मोदी ने पंडित जवाहरलाल नेहरू पर नर्मदा नदी पर बन रहे सरदार सरोवर बांध की परियोजना में जान-बूझकर देरी करने का आरोप लगाया. मोदी ने कहा कि नर्मदा नदी पर बांध की कल्पना सरदार पटेल की थी.

यही वजह रही कि उन्होंने और बाद की कांग्रेस सरकारों ने इसे लटकाया. सरदार सरोवर बांध का उद्घाटन अभी हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है.

2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही हर चुनाव में मोदी ने गुजराती अस्मिता से अपने-आप को जोड़कर विरोधियों को मात दी है. 2002 के गुजरात दंगों के बाद मोदी को लगातार कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार के ताने सुनने पड़े.

लेकिन व्यंग्य-वाण को मोदी ने पांच करोड़ गुजरातियों के अपमान से जोड़ कर हर बार कांग्रेस को पटखनी दे दी.

क्या काम करेगा गुजराती अस्मिता का हथियार?

गुजराती अस्मिता की बात को समझने वाले मोदी इस बार भी उसी दांव से कांग्रेस को पछाड़ने की कोशिश में हैं. कांग्रेस अध्यक्ष बनने की अटकलों के बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गुजरात में सक्रियता को लेकर मोदी सजग हैं. उन्हें इस बात का एहसास है कि गुजरात में लड़ाई मोदी बनाम कांग्रेस ही होगी.

लिहाजा मोदी फिर से उस पुराने दांव को ही आजमा रहे हैं. अपने-आप को पांच करोड़ गुजरातियों के नायक के तौर पर पेश कर नरेंद्र मोदी कांग्रेस और राहुल गांधी को गुजरात विकास के विरोधी के तौर पर पेश कर रहे हैं.

Back to top button