सोहराबुद्दीन को नहीं मारते तो पाकिस्तान कर देता नरेंद्र मोदी की हत्या – वंजारा

22 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया

अहमदाबादःवर्ष 2005 में हुए सोहराबुद्दीन और तुलसी प्रजापति एनकाउंटर मामले में मुकदमे का सामना कर रहे 22 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया गया है.

कोर्ट के इस फैसले पर पूर्व आईपीएस अधिकारी और गुजरात पुलिस के तत्कालीन डीजी, डीजी वंजारा ने शुक्रवार को दावा किया कि अगर गुजरात एटीएस सोहराबुद्दीन को नहीं मारती तो वह तत्‍कालीन पीएम मोदी की हत्या कर सकता था. आज यह साबित हो गया कि मैं और मेरी टीम सही थी. हम सच के साथ खड़े थे.’

इस एनकाउंटर केस में पूर्व आरोपी रहे वंजारा ने कहा यदि गुजरात पुलिस की यह मुठभेड़ न होती तो पाकिस्तान नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश में कामयाब हो जाता और गुजरात एक और कश्मीर बन जाता.

वंजारा ने कहा, ‘गुजरात, आंध्र प्रदेश और राजस्थान पुलिस को गुजरात की बीजेपी सरकार और केंद्र की कांग्रेस सरकार की राजनीतिक लड़ाई के बीच में बलि का बकरा बनाया गया था.’

new jindal advt tree advt
Back to top button