राष्ट्रीय

नरेंद्र मोदी ने दिया साल का पहला इंटरव्यू, उर्जित पटेल को लेकर किया बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2019 के पहले इंटव्यू में पूर्व आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए अपने इंटरव्यू में उर्जित पटेल पर बात करते हुए कहा कि वह खुद ही निजी कारणों से इस्तीफा देना चाहते थे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं पहली बार इस बात का खुलासा कर रहा हूं कि वह मुझसे 6-7 महीने पहले से ही इस्तीफे की बात कह रहे थे। यहां तक कि उन्होंने मुझे ये लिखित में भी दिया था।

उन्होंने कहा कि उर्जित पटेल पर किसी राजनीतिक दबाव का सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने बतौर आरबीआई गवर्नर अच्छा काम किया है। गौरतलब है कि उर्जित पटेल ने बीती 10 दिसंबर 2018 को आरबीआई गवर्नर के पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के पहले सरकार और रिजर्व बैंक के बीच तनातनी होने की खबरे आई थीं। जिसके बाद ये माना जा रहा था कि उर्जित पटेल ने इस्तीफा राजनीतिक दबाव में दिया है।

हालांकि पटेल ने इस्तीफा के बाद बयान में कहा था, व्यक्तिगत कारणों की वजह से मैंने अपने वर्तमान पद से तुरंत प्रभाव से हटने का फैसला किया है। यह मेरा सौभाग्य रहा है कि पिछले कई वर्ष तक मुझे रिजर्व बैंक में विभिन्न पदों पर काम करने का मौका मिला। रिजर्व बैंक के कर्मचारियों, अधिकारियों और प्रबंधन का समर्थन और उनकी मेहनत इस दौरान बैंक के कामकाज को आगे बढ़ाने में सहायक रही है। मैं इस अवसर पर अपने साथियों और आरबीआई के केन्द्रीय निदेशक मंडल के निदेशकों का आभार व्यक्त करता हूं और उन्हें भविष्य के लिये शुभकामनायें देता हूं।’

नोटबंदी पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘ये कोई झटका नहीं था। हमने इसके बारे में लगभग एक साल पहले लोगों को चेतावनी दे दी थी। अगर आपके पास काला धन है तो इसे जमा करा दें, जुर्माना भर दें और आपकी मदद की जाएगी। हालांकि उन्हें लगा कि मोदी भी दूसरों की तरह है, इसलिए कुछ लोग ही सामने आए।’

congress cg advertisement congress cg advertisement