सपा सांसद ने कहा- पाक ने जाधव को माना आतंकी, BJP ने की सदस्यता रद्द करने की मांग

नरेश अग्रवाल के इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं में रोष देखा जा रहा है

सपा सांसद ने कहा- पाक ने जाधव को माना आतंकी, BJP ने की सदस्यता रद्द करने की मांग

पाक जेल में बंद कुलभूषण जाधव से 25 दिसंबर को उनकी पत्नी और मां की मुलाकात और उसके बाद परिवार के साथ की गई बदसुलूकी के बाद जहां भारत में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्से का माहौल है, वहीं समाजवादी पार्टी के एक नेता नरेश अग्रवाल ने ऐसा बयान दे दिया है, जिससे विवाद पैदा हो गया है। नरेश अग्रवाल ने पाकिस्तान द्वारा जाधव के प्रति अमानवीय व्यवहार को सही ठहराया है।
नरेश अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अगर पाकिस्तान ने कुलभूषण को आतंकवादी माना है तो उसके साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे जैसा वो कर रहे हैं।

नरेश अग्रवाल के इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं में रोष देखा जा रहा है। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने मांग की है कि पार्लियामेंट्री अफेयर मंत्री को एक रिजोल्यूशन पास कर नरेश अग्रवाल को माफी मांगने के लिए कहना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि यदि वह मना करते हैं तो उनकी संसद सदस्यता को ही खत्म कर देना चाहिए।

नरेश अग्रवाल ने आज सुबह यह भी कहा, ‘हमारे देश में भी आतंकवादियों के साथ ऐसा ही कड़ा व्यवहार करना चाहिए जैसा कि पाकिस्तानी जेलों में भारतीयों के साथ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की जेलों में सैकड़ों भारतीय बंद हैं, ऐसे में उनकी भी बात होनी चाहिए, सिर्फ जाधव की नहीं।

नरेश अग्रवाल ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उनका कहने का मतलब था कि पाक जेल में बंद भारतीयों के साथ जैसा व्यवहार किया जाता है, हमें भी भारतीय जेल में बंद पाक जासूस या आतंकियों के साथ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम उनके साथ खुली छूट देकर व्यवहार कर रहे हैं, वो नहीं करना चाहिए।

बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने भी नरेश अग्रवाल के बयान पर यूपीए को घेरते हुए ट्वीट किया -ये राष्ट्र के साथ विश्वासघात है। उन्होंने कहा कि नरेश अग्रवाल पाकिस्तान की तरफ हैं, जो उनके साथ खाना खाते हैं और शराब पीते हैं और भारतीय सेना को गालियां देते हैं, सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल करते हैं और कुलभूषण जाधव को आतंकवादी कह रहे हैं।

वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि हम पाकिस्तान से कुछ बेहतर की अपेक्षा नहीं रख सकते। पाकिस्तान का कुलभूषण की मां और पत्नी के साथ किया गया व्यवहार शर्मनाक है।

advt
Back to top button