नरवा, गरवा, घुरवा, बारी के किसान नेता संजय सिन्हा ने सरपंच निर्मला साहू के किया औचक निरीक्षण

- मनराखन ठाकुर

पिथौरा:- आरंग विकासखंड के ग्राम पंचायत बेहार में छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरवा, घुरवा, बारी येला बचाना हे सांगवारी का आज किसान नेता संजय सिन्हा ने ग्राम पंचायत के सरपंच निर्मला साहू के साथ जाकर औचक निरीक्षण किया साथ मे सरपंच निर्मला साहू ने बताया कि यह 25 एकड़ में बन रहा गोठान के लिये 10 एकड़ नदियां के लिये 3 एकड़ साथ मे बारी 10 एकड़ और चारागाह के लिये 2 एकड़ जमीन का चिन्हांकित किये हैं।

इस योजना में खाश बात यह है कि गाँव के मजदूरों को मनरेगा के तहत काम मिलेगा, सिन्हा कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पायलट परियोजना के तहत नरवा गरवा गुरुवा बाड़ी येला बचाना है संगवारी के मुद्दे को लेकर ग्राम शहर के गरबा गुटान के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने की आवश्यकता है जिससे कि हमारे पशु धन की सुरक्षा, रक्षक, के साथ संवर्धन आज के युग में अति आवश्यक है मानव जीवन का स्वभाव हमेशा गौ रक्षा की ओर बनाना है।

इस योजना के लक्ष्य को लेकर भूपेश बघेल बेहद संवेदनशील मुख्यमंत्री के साथ साथ जीव जंतु के पालन पोषण की भी सुरक्षा और चिंता रखते हैं आज हमें गर्व है कि ऐसे मुख्यमंत्री के सानिध्य पाकर हम सब कांग्रेस के संगठन को मजबूती के साथ और जनता के हितों की रक्षा के लिए आगे बढ़कर कार्य करने की हम सबको चिंता है निश्चित तौर पर छत्तीसगढ़ की महतारी का सेवा कांग्रेस के ही नेता एवं कार्यकर्ता कर सकते हैं।

गरीब जनता मजदूर किसान की कोई देखभाल करने वाले हैं तो आ भूपेश बघेल ही हैं किसान नेता सिन्हा ने कहा कि गांव के विकास से ही राष्ट्र का विकास है इसलिए हमें शहर से ज्यादा गांवों का विकास जरूरी है इस योजनाबद्ध तरीके से हमें गांव में इस परियोजना के तहत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बजट 1542 करोड़ रुपये दिये हैं तथा पहला काम हमें इस प्रोजेक्ट को सफल बनाना है।

इसका नाम देश तो क्या विदेश में भी लोग जाने लग गए हैं इसी नरूवा गरुवा घुरवा बारी के नाम से ब्रिटिश के संसद में गरीब किसान हितेषी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सम्मानित करने का मौका प्राप्त हुआ यह प्रोजेक्ट छत्तीसगढ़ के लिए बहुत ही खास है साथ ही साथ सिन्हा ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द तैयार करो और शासन की सभी योजनाओं का लाभ समस्त प्रदेशवासियों को मिलेगा।

Back to top button