राजनीति

राहुल अहमदाबाद पहुंचे: कांग्रेस में शामिल होंगे OBC नेता, हार्दिक को मिलने बुलाया

अहमदाबाद. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को अहमदाबाद पहुंचे। यह एक महीने में उनका तीसरा गुजरात दौरा है। उनकी मौजूदगी में ओबीसी लीडर अल्पेश ठाकोर कांग्रेस ज्वाइन करेंगे। इस बीच, कांग्रेस ने पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और जिग्नेश मेवानी को भी राहुल से मिलने और बातचीत करने बुलाया है।
चुनाव आयोग अब किसी भी दिन गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर सकता है। नवसृजन गुजरात जनादेश रैली में हिस्सा लेंगे राहुल…

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक गुजरात कांग्रेस के प्रेसिडेंट भारत सिंह सोलंकी ने बताया, “हमने हार्दिक और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के दूसरे नेताओं को भी इनवाइट किया है। उन्होंने हमें एक मेमोरेंडम दिया था। उनकी मांगों को लेकर हमारा सकारात्मक रुख है।”

– “राहुल रैली से पहले ही इन नेताओं से तमाम मुद्दों पर बातचीत करेंगे। हमने उन्हें इसलिए इनवाइट किया है ताकि वे कांग्रेस को सपोर्ट करें।”
– बताया जा रहा है कि राहुल अपने एक दिन के दौरे में जेडीयू नेता छोटू वासव से भी मुलाकात करेंगे।
कौन हैं अल्पेश ठाकोर?
– अल्पेश ठाकोर ने राहुल से रविवार को दिल्ली में मुलाकात की थी। इसके बाद ही उन्होंने कहा था कि वे जल्द ही कांग्रेस में शामिल होंगे।- ठाकोर ओबीसी, एससी-एसटी एकता मंच और ठाकोर क्षत्रिय सेना के फाउंडर हैं।
अल्पेश वही नेता हैं जिन्होंने पाटीदार आरक्षण आंदोलन का विरोध किया था। जब हार्दिक पटेल ने 2015 में पाटीदारों को सरकारी नौकरियों और एजुकेशन में OBC के तय कोटे के तहत रिजर्वेशन देने के लिए आंदोलन शुरू किया तो ठाकोर ने भी उनके जवाब में ओबीसी, एससी और एसटी कम्युनिटी के लिए आंदोलन शुरू कर दिया।
– इसी साल जुलाई में ठाकोर की अगुआई में गुजरात के किसानों ने कर्ज माफी की मांग करते हुए हाईवेज पर कई लीटर दूध बहा दिया था। एक साल पहले ठाकोर की अगुआई में भी अवैध शराब कारोबार के खिलाफ आंदोलन चला था। ठाकोर राज्य में बाबा साहेब अंबेडकर की भव्य प्रतिमा लगवाने के लिए भी आंदोलन कर चुके हैं।
चुनाव से पहले किस तरह कांग्रेस की नजर कास्ट फैक्टर पर?
1) ठाकोर का कांग्रेस में आना यानी 51% वोटरों तक पहुंच
– गुजरात में 30% ओबीसी वोटर हैं। वहीं, क्षत्रिय-हरिजन-आदिवासी वोटरों की तादाद 21% है। अल्पेश ठाकोर का एकता मंच इन सभी कम्युनिटी को रिप्रेजेंट करता है। यानी ठाकोर के बहाने कांग्रेस की नजर गुजरात के कुल 51% वोटरों पर है।
2) पाटीदारों की कांग्रेस से नजदीकी बीजेपी के लिए खतरे की घंटी
– राहुल पाटीदार नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। पिछली बार भी जब राहुल गुजरात दौरे पर आए थे तो हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर उनका स्वागत किया था। कांग्रेस की अगर पाटीदारों से नजदीकी बढ़ती है तो वह 20% वोट बैंक में सेंध लगा सकती है।

जानिए पाटीदार वोटरों की अहमियत

गुजरात में कितने पाटीदार वोटर 20%
2012 में बीजेपी को कितने पाटीदारों ने सपोर्ट किया? 80%
अहम क्यों? 19 साल से BJP को सत्ता दिलाने में भूमिका, 182 में से 44 विधायक पाटीदार।
2015 में क्या हुआ? पाटीदारों ने आरक्षण आंदोलन किया। बीजेपी से नाराज हुए।
एक महीने में राहुल गांधी का तीसरा दौरा
– बीते एक महीने में राहुल तीसरी बार गुजरात जा रहे हैं। 26-27 सितंबर और 9-11 अक्टूबर तक वे यहां रहे थे।
– राहुल ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा था कि विकास को क्या हुआ? गुजरात में विकास झूठ सुन-सुनकर पागल हो गया है।
– राहुल ने कहा था- “जीएसटी में छोटा व्यापारी हर महीने में 3 फॉर्म कैसे भरेगा? एक सवाल पूछे बिना मोदीजी ने नोटबंदी कर दी। छोटे से छोटा बच्चा इसके नुकसान बता देगा। वो कहेगा कि हमारी दुकान कैश से चलती है।”
– “गुजरात में कांग्रेस की सरकार आई तो हम अपने मन की बात नहीं बताएंगे। आपके मन की बात सुनेंगे।”
Summary
Review Date
Reviewed Item
राहुल अहमदाबाद पहुंचे
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *