महिला एवं बाल विकास विभाग की तीन परियोजनाओं को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर:

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने महिला एवं बाल विकास विभाग की तीन परियोजनाओं को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित होने पर विभागीय मंत्री रमशीला साहू सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने आज यहां मंत्रालय में मुख्यमंत्री से सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री को विभाग की इस उपलब्धि की जानकारी दी। श्रीमती साहू ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग की तीन परियोजनाओं को राष्ट्रीय स्तर का 3 स्कॉच अवार्ड प्राप्त हुए हैं।

इन परियोजनाओं में समय सीमा में उल्लेखनीय कार्य के लिए विभाग की दो परियोजना को गोल्ड सम्मान से और एक परियोजना को ताम्र सम्मान से सम्मानित किया गया है।

इनमें से ई-डॉकेट-डब्ल्यूसीडी पोर्टल eDocket – WCD portal – Gold परियोजना को गोल्ड सम्मान प्राप्त हुआ है। श्रीमती साहू ने बताया कि वर्ष 2012 से संचालित इस परियोजना के सॉफ्टवेयर से 3 सेकंड में और 10 गुना काम लागत में पत्राचार प्रदेश के अंतिम विकासखंड तक संभव हुआ है। विकासखंड स्तर तक डिजिटाइजेशन digitation संभव हुआ। गोल्ड अवार्ड से सम्मानित होने वाली दूसरी परियोजना वजन त्यौहारVajan Tyhor – Gold है, जिसमें प्रति वर्ष अभियान चलाकर हर बच्चे का वजन कर कुपोषण पर नियंत्रण किया गया। तीसरी परियोजना संस्कार अभियान Sanskar Abhiyan – Copper को ताम्र सम्मान प्राप्त हुआ है।

इस अभियान में खेल-खेल में सीख की अवधारणा से आंगनबाड़ी को बच्चों के लिए आकर्षक बनाया गया है। इस अभियान के परिणाम स्वरूप आंगनबाड़ियों में दी जा रही सेवाओ की गुणवत्ता बढ़़ी है।

रमशीला साहू ने बताया कि भारत वर्ष की लगभग 1700 परियोजनाओं में से श्रेष्ठ 200 परियोजनओं में छत्तीसगढ़ की इन तीन का चयन स्कॉच ग्रुप द्वारा किया गया है।

चयन की प्रक्रिया तीन चरणों में गहन समीक्षा उपरांत होती है। इस अवसर पर महिला एवम बाल विकास विभाग की सचिव डॉ. एम गीता और संचालक राजेश सिंह राणा भी उपस्थित थे।

Back to top button