केंद्रीय विवि में नए सत्र से शिक्षकों की कमी होगी खत्म

खाली पदों को भरने की कवायद तेज

नई दिल्ली : शिक्षकों की भारी कमी से जूझ रहे केंद्रीय विश्वविद्यालयों को नए शैक्षणिक सत्र से इससे राहत मिल सकती है। विश्वविद्यालयों ने शिक्षकों के सालों से खाली पड़े पदों को भरने का काम शुरू कर दिया है। इलाहाबाद, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय और जाधवपुर जैसे कई विवि में इसे लेकर भर्तियां भी निकाल दी गई है। साथ ही अगले दो महीनों के भीतर शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया को पूरा करने के भी संकेत दिए है। शिक्षकों की यह कमी मौजूदा समय में देश के सभी 41 केंद्रीय विवि में बनी हुई है।

केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के खाली पदों को भरने की यह कवायद उस समय तेज हुई है, जब हाल ही में सरकार ने एक अध्यादेश के जरिए विवि में आरक्षण रोस्टर की पुरानी व्यवस्था को बहाल कर दिया था। इसके तहत विवि को ही यूनिट माना जाएगा। हालांकि विवि को लेकर जारी किए गए इस नए आरक्षण रोस्टर में अब ईडब्लूएस कोटे को भी शामिल कर दिया गया है। इससे पहले इनमें एससी, एससी और ओबीसी वर्ग ही शामिल था।

Back to top button