नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने रिसर्च के लिए की 30 बंदरों की मांग

महाराष्ट्र वन विभाग से वैक्सीन के लिए बंदर उपलब्ध कराने के लिए कहा

नई दिल्ली: नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च के लिए 30 बंदरों की मांग की है. इंस्टीट्यूट ने महाराष्ट्र वन विभाग से वैक्सीन के लिए बंदर उपलब्ध कराने के लिए कहा है. इन बंदरों को महाराष्ट्र से पकड़ा जाएगा.

महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ ने मांगे गए बंदरों को उपलब्ध कराने के लिए एक ऑर्डर भी जारी कर दिया है. बंदरों को उपलब्ध कराने की अनुमति कई शर्तों के साथ जारी की गई है. इसमें शर्त है कि इन बंदरों को पूरी तरह ट्रेंड स्टाफ के द्वारा ही पकड़ा और सौंपा जाएगा.

इन्हें पकड़ने के दौरान किसी भी जानवर को हानि नहीं पहुंचाई जाएगी. इसके अलावा इन्हें पकड़ने के लिए किसी भी जानवर की दिनचर्या को प्रभावित नहीं किया जाएगा और इनका उपयोग व्यावसायिक उद्देश्य के लिए नहीं किया जाएगा.

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने रेमडेसिविर दवा के इस्तेमाल करने को मंजूरी दे दी है. इबोला के इलाज में काम आने वाली रेमडेसिविर एकमात्र ऐसी दवा है जो कोरोना के इलाज में बेहद असरदायी नजर आ रही है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button