श्रीनगर में घुसे लश्कर के पांच आतंकी, एहतियातन आज बंद रहेगी मोबाइल और रेल सेवा

गणतंत्र दिवस पर लश्कर-ए-ताइबा ने घाटी में बढ़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रची है। पांच सदस्यीय दल श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र में पहुंच चुका है और सुरक्षा बलों पर हमले करने की फिराक में है।

गणतंत्र दिवस पर लश्कर-ए-ताइबा ने घाटी में बढ़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रची है। पांच सदस्यीय दल श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र में पहुंच चुका है और सुरक्षा बलों पर हमले करने की फिराक में है।

एहतियात के तौर पर मोबाइल सेवाएं ठप कर दी गई हैं और रेल सेवा भी प्रभावित रहेगी। जम्मू-कश्मीर पुलिस को खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के अनुसार लश्कर का पांच सदस्यीय दल श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र में मौजूद है।

पुलिस ने इस इनपुट को अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ साझा कर उन्हें चौकस रहने को कहा है, ताकि किसी भी आतंकी वारदात को नाकाम बनाया जा सके।

एक और इनपुट जम्मू-कश्मीर पुलिस को मिला है, उसमें यह बात सामने आई है कि जम्मू संभाग में भी जैश के आतंकी किसी भी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। इस सूचना के बाद श्रीनगर शहर और आसपास के इलाकों में बृहस्पतिवार को भी सुरक्षा के कड़े प्रबंध देखने को मिले। जगह-जगह मोबाइल नाके लगाए और वाहनों की तलाशी की गई।

इसके अलावा कई इलाकों में भी तलाशी अभियान भी चलाया गया। जानकारी के अनुसार 26 जनवरी के अवसर पर मोबाइल नेटवर्क भी बंद किए जाएंगे, ताकि आतंकी आईडी जैसे विस्फोट नहीं कर सके। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेल सेवाएं भी बंद रहेंगी।

कश्मीर घाटी में गणतंत्र दिवस पर समारोह स्थलों और आसपास के इलाकों में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। जगह-जगह मोबाइल नाके लगाए जा रहे हैं।

श्रीनगर में गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में होगा। यहां राज्य के संसदीय मामलों के मंत्री अब्दुल रहमान वीरी सलामी लेंगे। इस समारोह को शांतिपूर्वक करवाने के लिए सुरक्षा के चाक चौबंद प्रबंध किए गए हैं।

समारोह स्थल के करीब सुलेमान टेंग पहाड़ी पर भी शार्प शूटर्स को तैनात किया गया है। इसके अलावा स्टेडियम की ओर जाने वाले सभी रास्तों को सील किया गया है।

advt
Back to top button