मोदी सरकार से 15 सवालों के साथ पोस्टर जारी कर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा

वोटर का असली टूलकिट यही है

रायपुर। कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय ने आज रायपुर के अपने निवास में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देश के वोटरों के नाम भाजपा के मोदी सरकार के केंद्र में 07 साल पूरे करने पर ‘‘देश का वोटर मोदी सरकार से हिसाब मांगे… जवाब दो’’ के नाम पर पोस्टर जारी कर कहा, देश का असली टूलकिट यही है। भाजपा के नेताओं में दम है तो इन सवालों का जवाब दें। विकास उपाध्याय ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, इन 07 वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी टीम ने एक सुनियोजित तरीके से सोशल मीडिया के जरिए अपनी खुद की एक छवि गढ़ी और आज उसी सोशल मीडिया पर उस बनावटी छवि को ध्वस्त होता देश देख रहा है।

विकास उपाध्याय आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र में भाजपा की मोदी सरकार पर बीते 07 साल के कार्य प्रणाली पर कई सवाल किए। इसके लिए बकायदा उन्होंने एक पोस्टर जारी कर कहा, देश के जिन मतदाताओं ने अपना वोट देकर भाजपा को सत्ता तक पहुंचाकर मोदी को प्रधानमंत्री बनाया, वही वोटर आज सवाल पूछने मजबूर हैं कि मोदी सरकार हिसाब दो हमारे सवालों का जवाब दो। विकास उपाध्याय ने बताया, पोस्टर में मुख्य रूप से पन्द्रह सवालों का जिक्र कर मोदी सरकार से सवाल किया गया है। जिसके 10 लाख पोस्टर छपवाए जा रहे हैं। इसे पूरे छत्तीसगढ़ के शहर से लेकर गांव-गांव तक दीवारों में चिपका कर हर एक वोटर को इस बात का एहसास दिलाया जाएगा कि मोदी सरकार ने इसका क्या किया।

भाजपा और मोदी ने सोशल मीडिया को माध्यम बनाकर सुनियोजित तरीके से छवि गढ़ने का काम किया :-

विकास उपाध्याय ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, आज के परिवेश में सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम बन गया है, जहाँ किसी की छवि गढ़ना हो या उसे तोड़ना हो एक बेहतर जगह है और प्रधानमंत्री मोदी स्वयं और उनकी टीम ने इस जगह का बेहतर उपयोग किया। धरातल पर कोई काम हो न हो, उन्होंने एक सुनियोजित तरीके से जिस तरह से अपनी बनावटी छवि चमकाने सफल रहे, वह देश के साथ एक बड़ा षड़यंत्र था। परन्तु मोदी सरकार की नाकामियों के चलते आज वही सोशल मीडिया जो कभी बीजेपी के लिए बड़ी ताकत थी अब कमजोर कड़ी बन गई है।

कोविड को लेकर कथित टूलकिट में लिखी गई बातें भाजपा की भाषा है :-

विकास उपाध्याय ने कहा, पिछले कुछ महीनों से जिस तरह से मोदी सरकार की पूरे देश एवं विश्व में छिछालेदर हो रही है, उससे बचने भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक रणनीति के तहत टूलकिट का मामला अचानक से लोगों के बीच लाया और कोविड में मोदी सरकार की असफलताओं को लेकर जो बातें कही जा रही हैं, उसी को ही उसमें उल्लेख किया गया। इस टूलकिट में लिखी गई भाषा पूरी तरह से भाजपा की है। इससे ये लगे कि यह कांग्रेस द्वारा कही जा रही है। परन्तु जल्द ही ट्वीटर ने मूल्यांकन कर मैनिपुलेटेड मीडिया करार दे दिया। इससे विचलित मोदी सरकार ट्वीटर को भी अपने अधीन करने कोई कसर नहीं छोड़ रही है और सत्ता की ताकत पर ट्वीटर के कार्यालय में नोटीस देने के बहाने दिल्ली पुलिस द्वारा इसके कर्मचारियों को धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा, भाजपा के आरोपी इसे सही साबित करने कांग्रेस के खिलाफ सबूत देने की अपेक्षा आंदोलन का राह अपना कर लोगों का ध्यान अन्य मुद्दों से भटका रहे हैं।

देश के वोटर का असली टूलकिट इन 15 सवालों में छूपी हुई है :-

विकास उपाध्याय ने कहा, आज जारी किए गए पोस्टर में जो सवाल उल्लेखित है देश के हर एक वोटर का है। उन्होंने इसकी शुरूआत नोटबंदी से करते हुए सवाल किया कि आखिर इससे हासिल क्या हुआ ? काला धन आया तो नहीं बल्कि स्विस बैंकों में इसके बाद भारतीयों का पैसा 50 प्रतिशत तक बढ़ गया। जिस महंगाई को लेकर पिछली सरकारों को कोसते रहे, क्या मोदी सरकार में महंगाई कम हो पाया ? पूरे देश में लोग बढ़ती महंगाई से त्रस्त हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों लेकर सार्वजनिक मंचों पर तर्क देते रहे कि भाजपा की सरकार आई तो 35 रूपये में पेट्रोल मिलेगा और आज इसे 100 रूपये तक पहुंचा दिया। जिस रसोई गैस को 350 से 400 रूपये में खरीददते थे, आपने 900 रूपये तक पहुंचा दिया। देश के नौजवानों को भरोसा दिलाते रहे कि हम 02 करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देंगे, रोजगार तो मिला नहीं बल्कि 10 गुना बेरोजगारी बढ़ गई।

विकास उपाध्याय ने याद दिलाया, मोदी जी के लिए कभी चौकीदार शब्द का जुमला बड़ा मजेदार हुआ करता था, हालांकि अब उसे बोलना छोड़ दिए हैं पर चौकीदार बनकर देश के लूटेरों को विदेश भगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। 2000 करोड़ रूपये खर्च कर पूरी दुनिया घूम ली, यह कहकर कि विदेशों से पूंजी लाएंगे पर आया कुछ नहीं। भाजपा सरकार ने कॉर्पोरेट जगत का 5,55,000 करोड़ रूपये माफ कर दिया और देश के किसानों को आंदोलन करने छोड़ दिया। कोरोना की बदहाली आपसे संभली नहीं और देश के लाखों लोगों को मौत के मुंह में धकेल दिया। इसके जिम्मेदार कौन हैं? 70 साल की सरकारें या 07 साल की आपकी सरकार? अच्छे दिन आयेंगे शुरूआत कर आत्मनिर्भर भारत के नाम पर देश को गुमराह किया और मदद के लिए विदेशों में हांथ फैलाते रहे। भारत के लोग अपने देश में मर रहे हैं और आपने विदेशों में वैक्सीन भेज दिया।

विकास उपाध्याय ने कहा, जिस गंगा नदी में आप को बुलाने की बात कह कर लोगों की भावना से खेलते रहे, उसी गंगा को अपनी नाकामियों से लाशें बिछाकर अपवित्र कर दिया। आपके कार्यकाल के 07 साल कम पड़ गए थे जो देश में न ऑक्सीजन है, न वेंटीलेटर, न बेड। इसके बाद भी देश के लोग मर रहे थे और आप सत्ता हथियाने लाखों की भीड़ जुटाकर सभा लेते रहे और जब भारत सहित पूरे विश्व में हो रहे अपनी बदनामी को देखा तो इससे बचने महामारी को राज्यों पर छोड़ दिया।

मोदी सरकार की नाकामियों को एक-एक मतदाता तक पहुंचाने प्रदेश भर का दौरा करूंगा –

विकास उपाध्याय ने बताया, भाजपा की कथनी और करनी को बताने इन 15 सवालों के साथ 10 लाख पोस्टर प्रिंट कराए जा रहे हैं, जिसे छत्तीसगढ़ के शहर से लेकर गांव-गांव तक दीवारों में चिपका कर वोटरों को उनके सवालों का भाजपा से जवाब पूछा जाएगा। इसके लिए एक रोड मैप तैयार है, जिसके मुताबिक वे पूरे प्रदेश का दौरा कर कांग्रेस के उन युवा साथियों को सक्रिय करेंगे। उन्होंने बताया, कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एक-एक मतदाता से संपर्क कर उनके दिए भाजपा को वोट का किस तरह से दुरूपयोग किया जा रहा है बताया जाएगा। साथ ही भूपेश सरकार की उपलब्धियों को किस तरह से लोगों के बीच प्रचारित करना है इसका भी प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button